संकट से जूझ रहे पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक के एक ग्राहक की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. 51 साल के संजय गुलाटी की इस बैंक में 90 लाख रु से ज्यादा की रकम जमा थी. सोमवार को उन्होंने अपने जैसे कई और ग्राहकों के साथ एक विरोध मार्च में हिस्सा लिया था. इसके कुछ ही घंटे बाद उनकी मौत हो गई.

संजय गुलाटी पहले से ही मुश्किलों में चल रहे थे. वे जेट एयरवेज में इंजीनियर थे. कर्ज से जूझती इस एयरलाइन का परिचालन जब बंद हो गया तो कई दूसरे लोगों के साथ उनकी नौकरी भी चली गई थी.

संजय गुलाटी

पीएमसी बैंक और इसके ग्राहकों का संकट तब शुरू हुआ जब चर्चित रियल एस्टेट फर्म एचडीआईएल, बैंक से लिया गया 4355 करोड़ रु का कर्ज नहीं चुका सकी. इसके बाद रिजर्व बैंक ने पीएमसी बैंक को अपनी निगरानी में ले लिया और उस पर कई पाबंदियां लगा दीं. इनमें ग्राहकों के लिए कैश निकासी की एक तय सीमा भी शामिल है.

कुछ दिन पहले पीएमसी बैंक के नाराज ग्राहकों ने मुंबई भाजपा कार्यालय का घेराव किया था. तब वहां वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद थीं. वे इन ग्राहकों से मिली थीं और उन्हें आश्वासन दिया था कि उनके हितों की रक्षा की जाएगी.