अफगानिस्तान में हुए एक बम धमाके में बुधवार को तीन लोगों की मौत हो गई और करीब 27 लोग घायल हो गए. पीटीआई के मुताबिक गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नसरत रहीमी ने बताया कि यह धमाका बुधवार सुबह पूर्वी लगमान प्रांत के अलीशिंग जिले में एक ट्रक में हुआ. मरने वालों में दो सुरक्षाकर्मी हैं. अधिकारियों ने हमले की पुष्टि करते हुए इसके लिए तालिबान को दोषी ठहराया है. उधर, तालिबान ने मीडिया को भेजे गए अपने बयान में हमले की जिम्मेदारी ली है और दर्जन भर सुरक्षा बलों की मौत का दावा किया है.

घायलों में 20 बच्चे शामिल हैं. असल में पुलिस मुख्यालय की इमारत के पास हुए इस बम धमाके की चपेट में आकर नजदीक का एक मदरसा भी क्षतिग्रस्त हो गया. संयुक्त राष्ट्र बाल निधि के अनुसार अफगानिस्तान में स्कूलों पर हो रहे हमलों की संख्या 2017 के मुकाबले तीन गुनी हो गयी है. वर्ष 2018 के अंत तक देश में 1000 से ज्यादा स्कूलों को बंद कर दिया गया था. इस समय अफगानिस्तान में राष्ट्रपति चुनाव के प्रथम दौर के नतीजों का इंतजार है. चुनाव पिछले महीने हुए थे. तालिबान ने छोटे-बड़े कई हमलों से मतदान को बाधित करने का प्रयास किया था. उसने कहा है कि वह इस चुनाव को मान्यता नहीं देता.