केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि निवेशकों को पूरी दुनिया में भारत से बेहतर कोई जगह नहीं मिलेगी जहां लोकतंत्र में यकीन करने के साथ ही पूंजीवाद का सम्मान किया जाता है. उन्होंने यह बात वाशिंगटन में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के मुख्यालय में आयजित एक परिचर्चा में कही. निर्मला सीतारमण ने दुनिया भर के निवेशकों को आश्वासन दिया कि सरकार नये सुधार लाने पर निरंतर काम कर रही है.

निर्मला सीतारमण ने कहा , ‘ये (भारत) आज भी सबसे तेजी से विकसित हो रही अर्थव्यवस्था है. इसके पास उत्कृष्ट कुशलता वाली श्रमशक्ति और ऐसी सरकार है जो सुधार के नाम पर जरूरी चीजों और इन सबसे ऊपर लोकतंत्र और कानून के शासन पर लगातार काम कर रही है.’ निवेशक भारत में निवेश क्यों करें, इस सवाल के जवाब में निर्मला सीतारमण ने कहा कि भले ही अदालती व्यवस्था में थोड़ी देरी हो जाती है, लेकिन भारत एक पारदर्शी और मुक्त समाज है. उनका यह भी कहना था कि भारत में कानून-व्यवस्था के साथ काम होता है और बहुत तेजी से सुधार हो रहे हैं, देरी को कम करने की दिशा में भी. निर्मला सीतारमण ने कहा, ‘इसलिए आपको भारत जैसा लोकतंत्र पसंद और पूंजीवाद का सम्मान करने वाला स्थान नहीं मिलेगा.’

बड़ी बीमा कंपनियों द्वारा इस क्षेत्र में निवेश पर लगी सीमा हटाने की अपील पर वित्त मंत्री कहा कि सरकार को यह समझना होगा कि सीमा हटाने के अलावा इस क्षेत्र की और क्या उम्मीदें हैं. निर्मला सीतारमण का कहना था कि उनका रुख इसके प्रति लचीला है. हालांकि वित्त मंत्री ने कहा कि वे इस वक्त उन्हें किसी तरह का आश्वासन नहीं दे सकतीं, लेकिन इस दिशा में काम किया जाएगा.