हरियाणा और महाराष्ट्र में कल विधानसभा चुनाव के लिए मतदान संपन्न हो गया. इसके बाद आए एक्जिट पोलों में इन दोनों राज्यों में फिर भाजपा की सरकार बनती दिख रही है. यह खबर आज के सभी अखबारों के पहले पन्ने पर है. अगर ऐसा होता है तो दोनों राज्यों की सत्ता में भाजपा पहली बार वापसी करेगी. इसके अलावा करतारपुर जाने वाले हर सिख यात्री पर 20 डॉलर की फीस लगाने पर भारत ने नाराजगी जताई है. उसने कहा है कि पाकिस्तान आस्था के नाम पर कारोबार कर रहा है. यह खबर भी कई अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है.

आखिरकार एनसीआरबी की रिपोर्ट आई लेकिन....

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) ने 2017 के लिए अपनी रिपोर्ट जारी कर दी है. यह रिपोर्ट एक साल देर से आई है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक दिलचस्प बात यह है कि इसमें भीड़ द्वारा, खाप पंचायतों के फरमान पर या फिर धार्मिक कारणों से की गई हत्याओं के आंकड़े नहीं हैं. अखबार से बात करते हुए एक अधिकारी का कहना है कि एनसीआरबी ने अपने पूर्व अध्यक्ष ईश कुमार के नेतृत्व में डेटा इकट्ठा करने की प्रक्रिया में बदलाव किया था. इसमें हत्या वाली श्रेणी में भीड़ या खाप पंचायतों द्वारा या फिर धार्मिक कारणों से की गई हत्याओं के आंकड़े अलग से दिए जाने थे. अधिकारी के मुताबिक 2015-16 में ही इन्हें जुटाने का काम शुरू हो गया था, लेकिन अब रिपोर्ट में इनका न होना हैरानी भरा है. रिपोर्ट के मुताबिक देश में अपराधों की संख्या 3.6 प्रतिशत बढ़ी है लेकिन बलात्कार के मामले पिछले पांच सालों में अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गए हैं.

सियाचिन पर्यटकों के लिए खुला

दुनिया में सबसे ऊंचाई पर स्थित युद्ध क्षेत्र सियाचिन को अब पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है. रक्षा मंंत्री राजनाथ सिंह ने यह जानकारी दी है. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक उन्होंने बताया कि पर्यटक सियाचिन बेस कैंप से लेकर कुमार पोस्ट तक जा सकेंगे. राजनाथ सिंह के मुताबिक यह कदम इसलिए उठाया गया है, ताकि लोग देख सकें कि सेना के जवान और इंजीनियर अत्यंत प्रतिकूल मौसम और विषम क्षेत्र में किस तरह काम करते हैं. सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक सियाचिन जाने वाले पर्यटकों के लिए सेना कुछ नियम तय करेगी.

इंफोसिस के शीर्ष अधिकारी आरोपों के घेरे में

देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस के कुछ अज्ञात कर्मचारियों (व्हिसलब्लोअर्स) ने कंपनी के शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ शिकायत की है. दैनिक जागरण के मुताबिक इस शिकायत में कंपनी के सीईओ सलिल पारेख और सीएफओ निलंजन रॉय पर व्यापार में मुनाफा दिखाने के लिए अनुचित तरीके अपनाने की बात कही गई है. उधर, कंपनी ने इसके जवाब में कहा है कि इस शिकायत को नियमों के मुताबिक ऑडिट कमेटी के सामने रख दिया गया है जहां नियमों के मुताबिक इसका समाधान किया जाएगा. कंपनी बोर्ड को यह पत्र 20 सितंबर को लिखा गया था. बोर्ड की ओर से पत्र का जवाब नहीं मिलने पर इन कर्मचारियों ने तीन अक्टूबर को अमेरिका स्थित ऑफिस ऑफ द व्हिसलब्लोअर प्रोटेक्शन प्रोग्राम को इस मामले से अवगत कराया था.

तेजस पहली बार लेट, यात्रियों को मुआवजा

भारत की पहली निजी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस पहली बार तय समय से तीन घंटे देरी से पहुंची. जनसत्ता की खबर के मुताबिक इसके लिए यात्रियों को डेढ़ लाख से ज़्यादा का मुआवजा दिया जाएगा और भारतीय रेलवे के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा. दिल्ली और लखनऊ के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस 19 अक्टूबर को अपने तय समय से तीन घंटे देरी से चली. इसकी वजह कानपुर के पास एक ट्रेन का पटरी से उतर जाना बताया गया. ट्रेन में कुल 450 यात्री थे और बताया जा रहा है कि हर यात्री को 250 रुपए मुआवजे के तौर पर दिए जाएंगे. आईआरसीटीसी के मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अश्विनी श्रीवास्तव ने बताया कि ट्रेन के लेट होने पर यात्रियों से खेद जताया गया और उन्हें मुफ्त दोपहर का भोजन करवाया गया.