‘करतारपुर साहिब जाने पर पाकिस्तान द्वारा प्रस्तावित शुल्क ‘जजिया टैक्स’ जैसा है.’

— मनीष तिवारी, कांग्रेस नेता

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने यह बात करतारपुर साहिब जाने वाले हर तीर्थयात्री पर पाकिस्तान की ओर से प्रस्तावित 20 डॉलर के सेवा शुल्क पर कही है. उन्होंने यह भी कहा कि अगर केंद्र सरकार पाकिस्तान के साथ इस शर्त के साथ समझौता करती है तो पैसे का भुगतान नरेंद्र मोदी सरकार को खुद करना चाहिए.

‘भारतीय सभ्यता के मूल्य हिंसा के दौर में शांति और मित्रता कायम कर सकते हैं.’  

— रामनाथ कोविंद, राष्ट्रपति

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने यह बात फिलीपींस में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कही. उन्होंने फिलीपींस की अर्थव्यवस्था और समाज में भारतीय प्रवासियों के योगदान की सराहना की और कहा कि इनकी वजह से भारत और भारतीयों की छवि बेहतर हुई है. राष्ट्रपति इस दक्षिण पूर्वी एशियाई देश की पांच दिन की यात्रा पर हैं.


‘यदि अमेरिका द्वारा हमारे देश को दिया गया वादा पूरा नहीं होता है तो हम अपना सैन्य अभियान और अधिक तीव्रता से वहीं से शुरू करेंगे जहां हमने इसे छोड़ा था.’ 

— रजब तैयब एर्दोआन, तुर्की के राष्ट्रपति

रजब तैयब एर्दोआन ने यह बात रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से होने वाली बातचीत के लिए रवाना होने से पहले कही. पिछले सप्ताह अमेरिकी उप राष्ट्रपति माइक पेंस के साथ हुए समझौते के बाद तुर्की ने अपनी सीमा के पास पूर्वोत्तर सीरिया में अपनी सैन्य कार्रवाई को पांच दिन के लिए रोक लिया था. इस अवधि के बीच कुर्दिश लड़ाकों को पीछे हटना था ताकि सीमा पर एक सुरक्षित क्षेत्र बन सके.


‘मैंने बेनी गेंज को बातचीत की मेज तक लाने और फिर से आम चुनाव टालने की पूरी कोशिश की, लेकिन असफल रहा.’

— बेंजामिन नेतन्याहू, इजरायल के प्रधानमंत्री

बेंजामिन नेतन्याहू का यह बयान नए गठबंधन के साथ सरकार गठन की अपनी कोशिशें छोड़ने के बाद आया. अब उनके प्रतिद्वंदी और पूर्व सेना प्रमुख बेनी गैंज के पास सरकार बनाने का मौका है. 17 सितंबर को हुए आम चुनाव में न तो बेंजामिन नेतन्याहू की लिकुड पार्टी को बहुमत मिला था और न ही बेनी गैंज की ब्लू एंड व्हाइट पार्टी को. अगर बेनी गेंज भी सरकार नहीं बना सके तो इजरायल अप्रैल के बाद से अपना तीसरा आम चुनाव देखेगा.