कनाडा में हुए आम चुनाव में किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है. ऐसे में भारतीय मूल के कनाडाई नागरिक जगमीत सिंह के नेतृत्व वाली न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी (एनडीपी) कनाडा की सरकार बनाने में किंगमेकर की भूमिका निभा सकती है. कनाडा के आम चुनावों में एनडीपी को 24 सीटें मिली हैं. कनाडा की मीडिया ने भी संकेत दिए हैं कि नई सरकार बनाने में भारतीय मूल के जगमीत सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है.

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो की लिबरल पार्टी सबसे अधिक सीटें जीतने के साथ ही सत्ता की सबले बड़ी दावेदार बनी हुई है. लेकिन, रोमांचक चुनावी मुकाबले में वह बहुमत हासिल नहीं कर सकी है. आम चुनाव में भारतीय मूल के जगमीत सिंह की पार्टी एनडीपी को 24 सीटें मिली हैं. लिबरल पार्टी को 157 सीटें, विपक्षी कंजर्वेटिव को 121, ब्लॉक क्यूबेकोइस को 32, ग्रीन पार्टी को तीन और निर्दलीय को एक सीट मिली हैं.

लिबरल पार्टी को 338 सदस्यीय हाउस ऑफ कॉमन्स में अपने नेतृत्व वाली अल्पमत सरकार बनाने के लिए 170 के ‘जादुई आंकड़े’ पर पहुंचने के लिए किसी दूसरी पार्टी की मदद चाहिए होगी. ऐसेे में माना जा रहा है कि जगमीत सिंह की एनडीपी सरकार बनाने में मदद कर सकती है. एनडीपी की भूमिका इसलिए भी महत्वपूर्ण हो गई है क्योंकि ग्रीन पार्टी ने पहले ही विपक्ष में बैठने के संकेत दिए हैं. वहीं, ब्लॉक क्यूबेकोइस नेता येव्स फ्रांकोइस ब्लैंचेट ने भी सरकार में शामिल होने की अनिच्छा जतायी है.

कनाडा के समाचार पत्र टोरंटो स्टार ने लिखा है, ‘न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी संसद में किंगमेकर की भूमिका निभाने के लिए तैयार है. जगमीत सिंह पहले के अपने रुख से पलटते हुए चुनाव में अपना अस्तित्व बचाने में कामयाब रहे हैं. हालांकि, 2015 के मुकाबले इस बार वे केवल 50 फीसदी सीटें ही बचा पाए.’ जगमीत सिंह की पार्टी की भूमिका इस बार महत्वपूर्ण हो गई है, लेकिन पिछले चुनाव के मुकाबले उनकी सीटों की संख्या में भारी कमी आई है.

सीटों की संख्या में गिरावट के बावजूद जगमीत सिंह ने मंगलवार को अपने भाषण में कहा कि उनकी पार्टी कनाडाई लोगों की प्राथमिकताओं पर काम करने के लिए अब कड़ी मेहनत करेगी. कनाडियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन की खबर के मुताबिक, खुद प्रधानमंत्री पद के दावेदार रहे जगमीत सिंह (40) ने कहा कि वह चाहते हैं कि एनडीपी नयी संसद में ‘रचनात्मक’ भूमिका निभाए.