महाराष्ट्र और हरियाणा में हुए विधानसभा चुनाव में पड़े वोटों की गिनती जारी है. शुरुआती रुझानों में दोनों राज्यों में सत्ताधारी भाजपा को बढ़त मिलती दिख रही है. हालांकि हरियाणा में भाजपा के आगे होने पर भी उसके लिए मामला फंसता दिख रहा है.

हरियाणा की सभी 90 सीटों के रुझान आ चुके हैं. इनमें सत्ताधारी भाजपा को 43 सीटों पर बढ़त दिख रही है. कांग्रेस को 26 सीटों पर बढ़त है जबकि दुष्यंत चौटाला की नई नवेली पार्टी जेजेपी 11 सीटों पर आगे दिख रही है. बहुमत का आंकड़ा 46 है. यानी अगर ये रूझान नतीजों में बदलते हैं तो सत्ता की चाबी जेजेपी के हाथ में रह सकती है. खबर है कि कांग्रेस ने जेजेपी से बातचीत भी शुरू कर दी है.

हरियाणा में भाजपा को कई सीटों पर झटका लगता दिख रहा है. पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष सुभाष बराला सहित पांच मंत्री अपनी सीटों पर पीछे चल रहे हैं. उधर, एनडीटीवी ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि हरियाणा के रुझानों से नाराज भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को दिल्ली तलब किया है.

दूसरी तरफ, महाराष्ट्र की भी सभी 288 सीटों के रुझान आ चुके हैं. यहां भाजपा और शिव सेना गठबंधन को 161 सीटों पर बढ़त है. भाजपा 103 सीटों पर आगे है तो उसकी सहयोगी शिव सेना 59 सीटों पर. यानी गठबंधन भारी जीत की तरफ बढ़ रहा है. कांग्रेस-एनसीपी और अन्य के लिए यह आंकड़ा 96 है. यानी विपक्षी गठबंधन को इस बार भी निराशा मिलती दिख रही है.