हरियाणा में सरकार बनाने को लेकर राजनीतिक हलचल तेज हो गई है. इंडिया टुडे ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि भाजपा और जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) का गठबंधन हो सकता है और आज रात ही जेजेपी की तरफ से इसकी घोषणा भी की जा सकती है.

खबरों के मुताबिक भाजपा अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह अहमदाबाद दौरे को बीच में ही छोड़कर वापस आ रहे हैं. अब से कुछ देर बाद वे पहले भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक करेंगे और फिर जेजेपी के कुछ नेताओं से मिलेंगे. माना जा रहा है कि इस मुलाकात में ही गठबंधन पर अंतिम मुहर लगेगी.

इससे पहले आज दुष्यंत चौटाला ने अपने 10 विधायकों के साथ एक बैठक की. इसके बाद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उनके लिए न तो भाजपा अछूत है और न ही कांग्रेस. मीडिया से बातचीत में उनका यह भी कहना था कि वे अपने संगठन के साझा न्यूनतम कार्यक्रम से सहमत होने वाली किसी भी पार्टी का समर्थन करेंगे. दुष्यंत चौटाला की जेजेपी ने हरियाणा विधानसभा चुनाव में 10 सीटें जीती हैं.

हरियाणा विधानसभा चुनाव में इस बार किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला है. भाजपा 40 सीटों के साथ बहुमत से छह सीट दूर रह गई है. उधर, दूसरे नंबर पर रही कांग्रेस ने 31 सीटें जीती हैं. हालांकि, शुक्रवार को छह निर्दलीय विधायकों ने भाजपा को अपना समर्थन देने का ऐलान किया है.