पाकिस्तानी सेना ने आरोप लगाया है कि भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत बार-बार ‘गैर-जिम्मेदाराना’ बयान देकर ‘युद्ध भड़का’ रहे हैं. पाकिस्तानी सेना ने यह भी कहा कि भारतीय सेनाध्यक्ष के बयान क्षेत्रीय शांति को खतरे में डाल रहे हैं.

पाकिस्तान के सैन्य प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक बयान में आरोप लगाया कि भारतीय सेना प्रमुख चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) के नए प्रस्तावित पद के लिए अपनी उम्मीदवारी को मजबूत बनाने के लिए बार-बार गैर जिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं. गफूर ने यह भी दावा किया कि वह राजनीतिक आकाओं के चुनाव अभियान के लिए गैर-जिम्मेदाराना बयानों के जरिये बार-बार युद्ध को भड़का रहे हैं और क्षेत्रीय शांति को खतरे में डाल रहे हैं. पाकिस्तानी सैन्य प्रवक्ता गफूर ने कहा कि भारतीय सेनाध्यक्ष पेशेवर सैन्य लोकाचार की कीमत पर भारतीय सीडीएस बनने की उम्मीद कर रहे हैं.

भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओेके) को ‘आतंकवादियों के नियंत्रण’ वाला क्षेत्र करार दिया था. फील्ड मार्शल केएम करिअप्पा स्मृति व्याख्यान में अपनी समापन टिप्पणियों में जनरल रावत ने शुक्रवार को यह भी कहा था कि गिलगित-बाल्तिस्तान तथा पीओके पाकिस्तान के अवैध कब्जे में हैं. पाकिस्तानी सैन्य प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर के बयान पर भारतीय सेना की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई है, लेकिन एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि भारतीय सेना झूठे और अपमानजनक आरोपों पर प्रतिक्रिया नहीं देती है.