प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत और सऊदी अरब में आतंकवाद से मुकाबले सहित सुरक्षा से जुड़े अलग-अलग मुद्दों पर आपसी सहयोग अच्छी तरह आगे बढ़ रहा है. एक प्रमुख आर्थिक सम्मेलन में भाग लेने और सऊदी अरब के शीर्ष नेतृत्व के साथ बातचीत करने के लिए रियाद पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक साक्षात्कार में यह बात कही. यह साक्षात्कार आज ‘अरब न्यूज’ में प्रकाशित हुआ है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसी भी देश का जिक्र किए बिना कहा, ‘मेरा मानना है कि भारत और सऊदी अरब जैसी एशियाई शक्तियां अपने अपने पड़ोस में समान रूप से सुरक्षा चिंताओं को साझा करती हैं.’ उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की इस खाड़ी देश की यात्रा का जिक्र भी किया. नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘मेरे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने अभी हाल ही में रियाद का दौरा किया जो बेहद सार्थक रहा.’ प्रधानमंत्री का यह भी कहना था कि रक्षा सहयोग पर दोनों देशों की एक संयुक्त समिति है जो नियमित बैठकें करती है. उनके मुताबिक इस समिति ने रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में आपसी हित और सहयोग के कई क्षेत्रों की पहचान की है.

सऊदी अरब, पाकिस्तान का एक प्रमुख सहयोगी है जिस पर आतंकवादियों को पनाहगाह मुहैया कराने का आरोप है. पाकिस्तान के एक आतंकी संगठन द्वारा जनवरी 2016 में पठानकोट में वायु सेना के एक ठिकाने पर किए गए हमले के बाद से भारत-पाकिस्तान के बीच बातचीत बंद है. भारत का कहना है कि बातचीत और आतंकवाद एक साथ नहीं चल सकते. भारत द्वारा अगस्त में जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म किये जाने के बाद पाकिस्तान ने उसके साथ अपने राजनयिक संबंधों को कमतर कर दिया है. उसने भारतीय राजदूत को निष्कासित भी कर दिया है. कश्मीर मुद्दे पर सऊदी अरब का समर्थन हासिल करने की कोशिश में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कई बार सऊदी अरब जा चुके हैं.

सऊदी अरब में करीब 26 लाख भारतीय प्रवासी रहते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सऊदी अरब में भारतीय समुदाय के कठिन परिश्रम और प्रतिबद्धता ने दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत किया है. नरेंद्र मोदी का कहना था, ‘सऊदी अरब को करीब 26 लाख भारतीयों ने अपना दूसरा घर बना लिया है. वे इसकी वृद्धि एवं विकास में योगदान दे रहे हैं.

यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सऊदी अरब की दूसरी यात्रा है. 2016 में अपनी पहली यात्रा के दौरान उन्हें सऊदी अरब के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. इसी साल क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने भारत का दौरा किया था.