यूरोपीय संघ के 23 सांसदों के जम्मू-कश्मीर दौरे से जुड़ी अलग-अलग खबरें आज ज्यादातर अखबारों के पहले पन्ने पर हैं. इन सांसदों ने अनुच्छेद 370 पर भारत के फैसले को उसका अंदरूनी मामला बताया है. इसके अलावा इन सांसदों ने यह भी कहा कि अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने इस मुद्दे की पक्षपातपूर्ण रिपोर्टिंग की. उधर, विपक्षी कांग्रेस और भाजपा की ही सहयोगी शिवसेना ने इन सांसदों के दौरे पर सवाल उठाए हैं. उनका कहना है कि ऐसा करके मोदी सरकार खुद इस मसले का अंतरराष्ट्रीयकरण कर रही है.

अयोध्या मामला दुनिया के सबसे अहम कानूनी मसलों में से एक : जस्टिस एसए बोबडे

भारत के भावी मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे ने अयोध्या मामले को दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण कानूनी मामलों में से एक बताया है. दैनिक जागरण के मुताबिक उन्होंने सोशल मीडिया पर जजों के कामकाज की आलोचना पर अफसोस भी जताया. उन्होंने कहा कि अधिकांश जज जिनकी चमड़ी मोटी नहीं है, वे इससे क्षुब्ध हो जाते हैं. जस्टिस एसए बोबडे का यह भी कहना था कि सर्वोच्च अदालत सुस्त पड़ चुके संवैधानिक मामलों से निपटने के लिए पांच जजों की एक स्थाई संवैधानिक पीठ बना सकती है. वे 18 नवंबर को देश के 47वें मुख्य न्यायाधीश बनेंगे. जस्टिस एसए बोबडे इस पद पर करीब 17 महीने रहेंगे.

वाट्सएप ने माना, भारतीय पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की जासूसी हुई

वाट्सएप ने पहली बार माना है कि उसके 1400 यूजरों की जासूसी हुई है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इसमें भारत के करीब दो दर्जन पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता भी शामिल हैं. वाट्सऐप का कहना है कि यह जासूसी मई 2019 में की गई और इसका जरिया बना पेगेसस नाम का एक इजरायली स्पाइवेयर. फेसबुक के स्वामित्व वाली इस कंपनी ने इस सिलसिले में अमेरिका में एक मामला भी दायर किया है. इसमें इजरायल के एनएसओ ग्रुप और क्यू साइबर टेक्नॉलॉजीज को आरोपित बनाया गया है. वाट्सएप के मुताबिक उसने खुद इन यूजरों से संपर्क करने उन्हें यह जानकारी दी है. हालांकि कंपनी ने इन लोगों की पहचान बताने से इनकार कर दिया.

महाराष्ट्र : भाजपा ने शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद की पेशकश की

महाराष्ट्र में सत्ता को लेकर गठबंधन सहयोगियों भाजपा और शिवसेना के बीच तनाव कम होता दिखाई दे रहा है. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा है कि उनकी पार्टी शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद देने को तैयार है. शिवसेना ढाई साल अपने और ढाई साल भाजपा के मुख्यमंत्री की मांग कर रही थी. देवेंद्र फड़णवीस ने यह भी कहा कि शिवसेना को मंत्रिमंडल में 13 सीटें भी दी जाएंगी. उन्होंने कहा कि दोनों पार्टियां अब जल्द से जल्द सरकार बनाएंगी. उधर, शिवसेना संजय राउत ने भी कहा कि महाराष्ट्र के लिए यही अच्छा होगा कि अगली सरकार भाजपा और शिवसेना की बने.