दिल्ली हाई कोर्ट ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक से एक मेडिकल बोर्ड का गठन करके पी चिदंबरम के स्वास्थ्य पर जानकारी देने के लिए कहा है. हाई कोर्ट ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी देने वाले मेडिकल बोर्ड में हैदराबाद के चिकित्सक नागेश्वर रेड्डी को शामिल किया जाए. पी चिदंबरम फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद हैं.

पी चिदंबरम ने अदालत से अनुरोध किया है कि आईएनएक्स मीडिया मामले से जुड़े मनी लॉन्डरिंग के केस में उन्हें चिकित्सकीय आधार पर अंतरिम जमानत दी जाए. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के मुताबिक उनकी सेहत खराब हो रही है और उन्हें संक्रमण रहित वातावरण में रहने की जरूरत है. इस पर न्यायमूर्ति सुरेश कैत ने कहा कि बोर्ड आज चिदंबरम की सेहत पर चर्चा करेगा और इसकी रिपोर्ट अदालत के सामने रखेगा. इसके बाद हाई कोर्ट इस मामले पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा.

पी चिदंबरम को अगस्त में गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद से या तो सीबीआई या ईडी की हिरासत में रहे हैं या फिर तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में. करीब एक दशक पुराने आईएनएक्स मामले में सीबीआई आरोपपत्र दाखिल कर चुकी है. उसका आरोप है कि आईएनएक्स मीडिया में विदेशी निवेश की मंजूरी देने में गड़बड़ी की गई. उस समय वित्त मंत्री पी चिदंबरम ही थे. उधर, पूर्व केंद्रीय मंत्री ने इन आरोपों को खारिज करते हुए इन्हें राजनीतिक बदले की कार्रवाई बताया है.