भारतीय कप्तान विराट कोहली की पत्नी अनुष्का शर्मा ने पूर्व विकेटकीपर फारूख इंजीनियर के उस दावे को दुर्भावनापूर्ण और झूठा बताया है जिसमें उन्होंने कहा था कि एक चयनकर्ता ने विश्व कप के दौरान अभिनेत्री को चाय परोसी थी.

फारुख इंजीनियर (82 वर्ष) ने एक अखबार से बात करते हुए एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाले भारत के पांच सदस्यीय चयन पैनल की योग्यता का मजाक उड़ाया था. इस दौरान इंजीनियर ने दावा किया था कि उन्होंने इन पांचों में से एक को इंग्लैंड में हुए विश्व कप के दौरान अनुष्का शर्मा को चाय परोसते हुए देखा था, लेकिन उन्होंने किसी का भी नाम नहीं लिया था.

गुरूवार को जब पीटीआई ने चयनकर्ताओं से संपर्क किया तो चयन पैनल के एक सदस्य ने गुस्से में इस दावे को खारिज किया. चयन समिति के इस सदस्य ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा, ‘विश्व कप के दौरान कोई भी चयनकर्ता बाक्स में नहीं बैठा था, जहां भारतीय कप्तान की पत्नी बैठी थीं. यह बिलकुल बकवास, दुर्भावनापूर्ण और अपमानजनक दावा है.’

इसके बाद गुरूवार को अभिनेत्री अनुष्का शर्मा ने भी एक लंबा बयान जारी किया जिसमें उन्होंने कहा कि वह अपने नाम को भारतीय क्रिकेट से संबंधित विवादों में लाने की अनुमति नहीं देंगी.

अनुष्का ने कहा, ‘इस तरह के दुर्भावनापूर्ण झूठ का नया संस्करण यह है कि विश्व कप के मैचों के दौरान चयनकर्ताओं ने मुझे चाय परोसी थी. मैं विश्व कप के दौरान एक मैच में आयी थी और ‘फैमिली बाक्स’ में बैठी थी, चयनकर्ताओं वाले बाक्स में नहीं.’

फारुख इंजीनियर के दावे के जवाब में उनका यह भी कहना था, ‘अगर आप चयन समिति और उनकी काबिलियत पर टिप्पणी करना चाहते हो तो कृपया ऐसा कीजिये क्योंकि यह आपकी राय है. लेकिन अपने दावे को साबित करने या फिर इसे सनसनीखेज बनाने के लिये मेरा नाम इसमें मत घसीटिये. मैं किसी को भी अपने नाम का इस्तेमाल इस तरह की बातों में नहीं करने दूंगी.’