विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) ने भारत को झटका दिया है. उसने भारत और अमेरिका के बीच व्यापार से जुड़े एक मामले में अमेरिका के पक्ष में फैसला सुनाया है. डब्ल्यूटीओ ने माना है कि भारत से अमेरिका निर्यात होने वाली चीजों पर जो सब्सिडी दी जाती है वह तय नियमों का उल्लंघन है.

अमेरिका ने यह मामला पिछले साल डब्ल्यूटीओ के सामने उठाया था. उसका कहना था कि भारत अपने निर्यातकों को जो सब्सिडी देता है वह अवैध है. अमेरिका का तर्क था कि इस सब्सिडी से अमेरिकी उद्योग और उससे जुड़े कामगारों को नुकसान हो रहा है.

भारत द्वारा अपने निर्यातकों को दी जाने वाली यह सब्सिडी 700 करोड़ डॉलर से अधिक आंकी गई है. यह सब्सिडी स्टील, कैमिकल और दवाइयों जैसे उत्पादों पर दी जाती है. अमेरिका का कहना है कि भारत मजबूत आर्थिक ताकत बन चुका है और उसे इस तरह की सब्सिडी नहीं देनी चाहिए.

भारत से सबसे ज्यादा निर्यात अमेरिका को ही होता है. उसके कुल निर्यात का लगभग 16 प्रतिशत हिस्सा वहां जाता है. अमेरिका व्यापार को लेकर भारत के साथ लगातार आक्रामक रुख अपनाए हुए है. इस साल की शुरुआत में उसने व्यापार में भारत को दी जाने वाली विशेष तरजीह खत्म कर दी थी.