जनता दल (एस) के नेता एचडी कुमारस्वामी ने शनिवार को कहा कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के सामने आए वीडियो से भाजपा बेनकाब हो गई है. एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि इस वीडियो में बीएस येदियुरप्पा को यह कहते सुना जा सकता है कि कर्नाटक की कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन सरकार के अंतिम दिनों में दोनों पार्टियों के बागी विधायकों को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की निगरानी में मुंबई में रखा गया था. बाद में इन विधायकों को अयोग्य ठहरा दिया गया था.

बेंगलुरू प्रेस क्लब द्वारा आयोजित ‘प्रेस से मिलिये’ कार्यक्रम के दौरान वायरल हुए इस वीडियो पर एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि येदियुरप्पा ने स्वीकार किया है कि उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष (अमित शाह) इन 15 विधायकों को ले गये और विधानसभा से इस्तीफा देने के लिए उन्हें मजबूर किया. यहां भाजपा सरकार बनाने के लिए दो महीनों तक इन विधायकों को मुंबई में रखा गया. उन्होंने कहा कि इस वीडियो के बाद पार्टी के रूप में भाजपा बेनकाब हो गई है. अब खुद बीएस येदियुरप्पा ने सच उगल दिया है. एचडी कुमारस्वामी ने कहा वीडियो के तथ्यों के आधार पर अदालत में एक याचिका दायर करने का निर्णय किया गया है.

उधर, कांग्रेस के संगठन महासचिव वेणुगोपाल ने भी संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘येदियुरप्पा के नए वीडियो सामने आए हैं, जिनमें कांग्रेस और जद(एस) विधायकों की खरीद-फरोख्त की बात हो रही है. हम कहते आ रहे हैं कि प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह भाजपा विरोधी विधायकों को खरीदने और विरोधी दलों की सरकारों को अस्थिर करने के लिए सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रहे हैं. अब येदियुरप्पा के वीडियो से यह सिद्ध भी हो गया है.’ कांग्रेस ने मांग की है कि इस मसले पर प्रधानमंत्री और गृह मंत्री अमित शाह को जवाब देना चाहिए. कांग्रेस ने यह भी कहा कि इस वीडियो को लेकर पार्टी अदालत का रूख भी करेगी.