सरकार के खिलाफ महीनों से चल रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान पहली बार प्रदर्शनकारियों ने चीन की आधिकारिक शिन्हुआ न्यूज एजेंसी के हांगकांग कार्यालय में तोड़फोड़ की. स्थानीय मीडिया ने हांगकांग के वान चाई जिले में शिन्हुआ कार्यालय में एक स्थान पर आग लगने और टूटी खिड़कियां समेत तोड़फोड़ के कई अन्य दृश्य दिखाए हैं. फिलहाल, यह पता नहीं चल पाया है कि घटना के वक्त क्या इमारत के भीतर लोग मौजूद थे.

चीन के खिलाफ अपना आक्रोश प्रकट करते हुए प्रदर्शनकारी चीन से जुड़े बैंक और कारोबारी प्रतिष्ठानों को निशाना बना रहे हैं. प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि उनके अधिकार छीने जा रहे हैं. शनिवार सुबह भी सरकारी इमारतों के कुछ प्रदर्शनकारियों ने गैसोलीन बम फेंके जिसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की बौछार की.

हांगकांग में नागरिकों के मौलिक अधिकारों को लेकर कई महीनों से प्रदर्शन हो रहे हैं. इन विवादों की शुरुआत एक विवादास्पद प्रत्यर्पण विधेयक से हुई थी. बाद में इस वापस ले लिया गया, लेकिन उसके बाद भी नागरिकों का प्रदर्शन जारी है. आंदोलनकारियों का कहना है पुलिस की बर्बरता की स्वतंत्र जांच, गिरफ्तार आंदोलनकारियों की बगैर शर्त रिहाई, आंदोलन को दंगे का लेबल न देने और शहर के नेता के सीधे चुनाव की मांगें अभी तक पूरी नहीं हुई हैं.