दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण के बढ़ते स्तर के बीच उत्तर प्रदेश सरकार के एक मंत्री ने हवा की गुणवत्ता बेहतर करने के लिए एक अनोखी तरकीब बताई है. न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बातचीत में मंत्री सुनील भराला ने कहा, ‘अगर हमें प्रदूषण को कम करना है तो इसके लिए पहले सरकार को यज्ञ कराना चाहिए. ताकि इस यज्ञ से इंद्र देव प्रसन्न हों और बारिश करवाएं. अगर इंद्र देव खुश हो गए तो सारी समस्याएं खुद-ब-खुद ही ठीक हो जाएंगी.’

सुनील भराला ने आगे कहा कि लोग बेवजह किसानों को पराली जलाने से मना कर रहे हैं. किसान कोई आज से पराली नहीं जला रहे हैं, यह पुरानी और प्राकृतिक प्रक्रिया है. इसलिये प्रदूषण के लिए पराली जलाने को ही जिम्मेदार नहीं बताना चाहिए. भराला के मुताबिक किसानों पर बार-बार हमला करना दुर्भाग्यपूर्ण है.

राजधानी दिल्ली और एनसीआर के इलाकों में प्रदूषण की स्थिति बेहद गंभीर हो गई है. रविवार को इस सीजन में पहली बार एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 600 के पार पहुंच गया. दिल्ली के धीरपुर में एक्यूआई 509, दिल्ली विश्वविद्यालय के आसपास 591, चांदनी चौक में 432 और लोधी रोड इलाके में 537 रिकॉर्ड किया गया. दिल्ली से सटे नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में प्रदूषण का स्तर 400 से 709 के बीच रिकॉर्ड किया गया, जो अति गंभीर श्रेणी में आता है.