दिल्ली सहित पूरे उत्तर भारत में छाई दमघोंटू धुंध से जुड़ी खबरें आज सभी अखबारों के पहले पन्ने पर हैं. देश की राजधानी दिल्ली वायु प्रदूषण के मामले में इन दिनों दुनिया का नंबर वन शहर है. जन स्वास्थ्य के लिहाज से आपात स्थिति को देखते हुए अब इससे निपटने को लेकर कैबिनेट सचिव रोज समीक्षा बैठक करेंगे. इसके अलावा दिल्ली में आज से ऑड-ईवन योजना भी शुरू हो रही है जो 15 नवंबर तक चलेगी.

इसके अलावा कांग्रेस का आरोप है कि उसकी महासचिव प्रियंका गांधी का फोन भी वाट्सएप के जरिये हैक हुआ. पार्टी ने इसका आरोप केंद्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी पर लगाया है. इस खबर को भी कई अखबारों ने प्रमुखता से जगह दी है.

एनआरसी भविष्य के लिए मूलभूत दस्तावेज साबित होगा : मुख्य न्यायाधीश

देश के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) रंजन गोगोई ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) प्रक्रिया का विरोध करने वालों को नसीहत दी है. दैनिक जागरण के मुताबिक उन्होंने कहा है कि एनआरसी की प्रक्रिया न तो नई है और न ही यह कोई नया विचार है. मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि भविष्य के लिए यह एक मूलभूत दस्तावेज (बेस डॉक्यूमेंट) होगा. जस्टिस रंजन गोगोई सुप्रीम कोर्ट की उस पीठ के अध्यक्ष हैं जो असम में एनआरसी प्रक्रिया की निगरानी कर रही है. असम में इस साल 31 अगस्त को एनआरसी की आखिरी सूची प्रकाशित हुई है. इसमें राज्य के 40 लाख लोगों का नाम नहीं है. यानी उन्हें अवैध नागरिक माना गया है. गृह मंत्री अमित शाह कई बार कह चुके हैं कि जल्द ही एनआरसी को पूरे देश में लागू किया जाएगा.

नरोवाल जिले में आतंकी ट्रेनिंग कैंप

नौ नवंबर को भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरीडोर को खोला जाना है. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नरोवाल जिले में स्थित करतारपुर साहिब सिख श्रद्धालुओं की आस्था का प्रमुख केंद्र है. ये कॉरीडोर भारतीय पंजाब के गुरदासपुर जिले में स्थित ‘डेरा बाबा नानक साहिब’ को ‘करतारपुर साहिब’ से जोड़ेगा. उधर, द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक खुफिया एजेंसियों को इसी जिले में आतंकियों की ट्रेनिंग गतिविधियों की खबर मिली है. इस खबर के मुताबिक पाकिस्तान में पंजाब प्रांत के मुरीदके, शकरगढ़ और नरोवाल में बहुत से आतंकी कैंप चल रहे हैं जिनमें कई महिलाएं भी ट्रेनिंग ले रही हैं. सुरक्षा एजेंसियों को चिंता है कि पाकिस्तान में बैठे आतंकी तत्व खालिस्तानी एजेंडा भड़काने के लिए करतारपुर आने वाले सिख श्रद्धालुओं का इस्तेमाल कर सकते हैं.

हमें 170 विधायकों का समर्थन : शिवसेना

महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना गठबंधन के बीच मुख्यमंत्री पद काे लेकर जारी टकराव के बीच शिवसेना ने कहा है कि उसे 170 विधायकों का समर्थन है और सीएम उसका ही हाेगा. दैनिक भास्कर के मुताबिक शिवसेना नेता संजय राउत का कहना है कि उनकी पार्टी एनसीपी-कांग्रेस के समर्थन से शिवसेना सरकार बना सकती है. उन्होंने यह आरोप भी लगाया है कि शिवसेना के विधायकाें का समर्थन हासिल करने के लिए सरकारी एजेंसियाें और अपराधियाें का इस्तेमाल किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि संजय राउत साेमवार शाम पार्टी नेताओं के साथ राज्यपाल से मिलेंगे.