झारखंड में विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के नेतृत्व में भाजपा विरोधी सभी प्रमुख विपक्षी पार्टियां महागठबंधन के प्रयास में जुट गयी हैं. विपक्षी दलों के इस महागठबंधन में बाबूलाल मरांडी की पार्टी झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) को शामिल करने की भी कोशिशें हो रही हैं. झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने महागठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं दिये जाने का आरोप लगाते हुए सभी सीटों पर लड़ने की घोषणा कर दी है. इसके बाद से उन्हें मनाने के प्रयास तेज कर दिये गये हैं.

पीटीआई के मुताबिक झामुमो के प्रवक्ता और महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘झामुमो का पूरा प्रयास है कि अन्य विपक्षी दलों कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल एवं वामपंथी दलों के साथ बाबूलाल मरांडी की झारखंड विकास मोर्चा भी भाजपा के खिलाफ महागठबंधन में शामिल हो. हालांकि, झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन के अनेक बार प्रयास के बावजूद मरांडी से संपर्क नहीं हो सका है.’ उन्होंने कहा कि अब महागठबंधन के सहयोगी कांग्रेस को बाबूलाल मरांडी से संपर्क करने को कहा गया है.

सुप्रियो भट्टाचार्य का कहना था कि बाबूलाल मरांडी बहुत परिपक्व एवं वरिष्ठ नेता हैं और गठबंधन बनाने के लिए उन्हें कुछ त्याग करने के लिए तैयार होना चाहिए.

इस बीच, कांग्रेस के झारखंड प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा कि राज्य में महागठबंधन के लिए बातचीत अंतिम दौर में है और सात- आठ नवंबर तक इसका स्वरूप तय कर लिया जायेगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि इस महागठबंधन में झामुमो, राजद एवं वामपंथी दलों के अलावा बाबूलाल मरांडी की झारखंड विकास मोर्चा भी शामिल हो.

सूत्रों के मुताबिक झारखंड में महागठबंधन में शामिल दलों में सीटों की हिस्सेदारी लगभग तय हो गयी है. यहां महागठबंधन में झाविमो के शामिल होने की स्थिति में झामुमो 35 से 40 और कांग्रेस 25 से 30 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. शेष 20 से 25 सीटों में पांच से सात सीटों पर लालू प्रसाद यादव की राजद और अन्य पर झाविमो एवं वामपंथी दल चुनाव लड़ेंगे.

बीते हफ्ते महागठबंधन को अंतिम रूप देने के लिए झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन न्यायिक हिरासत में बंद राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव से भी मिले थे.

झारखंड में 81 सदस्यीय विधानसभा के लिए चुनाव पांच चरण में होंगे. मतदान का पहला दौर 30 नवंबर को और अंतिम तथा पांचवां चरण 20 दिसंबर को होगा. मतगणना 23 दिसंबर को होगी.