महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी खींचतान के बीच शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की है. पीटीआई के मुताबिक मुलाकात के बाद संजय राउत ने कहा, ‘यह एक शिष्टाचार भेंट थी.’ इससे पहले उन्होंने कहा था कि शरद पवार मुख्यमंत्री पद की दौड़ में नहीं हैं. उधर, एनसीपी का बयान आया था कि शिवसेना द्वारा भाजपा के साथ गठबंधन समाप्त करने की घोषणा के बाद महाराष्ट्र में एक नए राजनीतिक विकल्प पर विचार किया जा सकता है. सूत्रों ने बताया था कि पार्टी शिवसेना के साथ बातचीत आगे बढ़ाने से पहले चाहती है कि केंद्र सरकार में शिवसेना के इकलौते मंत्री अरविंद सावंत इस्तीफा दें.

महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान जारी है. पिछले विधानसभा चुनाव के विपरीत दोनों पार्टियों ने यह चुनाव मिलकर लड़ा था. 288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा ने इस बार 105 सीटें जीतीं जबकि शिवसेना 56 सीटों पर विजेता रही. राज्यसभा सदस्य संजय राउत कह चुके हैं कि उनकी पार्टी ढाई-ढाई वर्ष के लिए मुख्यमंत्री पद साझा करने सहित सत्ता के बंटवारे को लेकर भाजपा से लिखित आश्वासन चाहती है. उन्होंने यह भी दावा किया कि भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद साझा करने को लेकर चुनाव से पहले ही सहमति हो गई थी.