अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों को नसीहत दी है. खबरों के मुताबिक प्रधानमंत्री ने कहा है कि वे इस मामले पर अनावश्यक बयानबाजी न करें. बुधवार को कैबिनेट की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में सौहार्द और सद्भाव का माहौल बनाए रखने की जरूरत पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि इस मामले को जीत या हार की नजर से नहीं देखा जाना चाहिए. इस मुद्दे पर पिछले कुछ दिनों से हो रही राजनीतिक बयानबाजी को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान को अहम माना जा रहा है.

अयोध्या मामले की सुनवाई मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पीठ कर रही है. पहले उसने मध्यस्थता से इस मसले का समाधान निकालने की कोशिश की थी. लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला. 17 नवंबर को मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई सेवानिवृत्त हो रहे हैं. इसलिए माना जा रहा है कि अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला इस तारीख से पहले आ सकता है. इसे देखते हुए अयोध्या में पुलिस और सुरक्षा बलों की तैनाती बढ़ा दी गई है. शहर में धारा 144 भी लगा दी गई है.