महाराष्ट्र में जारी सियासी उठापटक के बीच खबर है कि शिवसेना ने अपने नवनिर्वाचित विधायकों को मुंबई के बांद्रा इलाके में स्थित एक होटल में शिफ्ट होने को कहा है. पार्टी के एक विधायक अब्दुल सत्तार के मुताबिक शिवसेना मुखिया उद्धव ठाकरे ने सभी विधायकों से कहा है कि वे कुछ समय तक होटल में ही रहें. इससे पहले पार्टी ने आरोप लगाया था कि सहयोगी भाजपा उसके विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रही है.

उधर, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने उम्मीद जताई है कि महाराष्ट्र में भाजपा देवेंद्र फड़णवीस के नेतृत्व में ही सरकार बनाएगी और शिवसेना भी उसके साथ होगी. आज नागपुर पहुंचे नितिन गडकरी ने कहा, ‘भाजपा और शिवसेना को राज्य में सरकार बनाने का जनादेश मिला है. हमें शिवसेना का समर्थन मिल जाएगा. हमारी उनके साथ बात चल रही है.’

महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चल रही है. पिछले विधानसभा चुनाव के विपरीत दोनों पार्टियों ने यह चुनाव मिलकर लड़ा था. 288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा ने इस बार 105 सीटें जीतीं जबकि शिवसेना 56 सीटों पर विजेता रही. राज्यसभा सदस्य संजय राउत कह चुके हैं कि उनकी पार्टी ढाई-ढाई वर्ष के लिए मुख्यमंत्री पद साझा करने सहित सत्ता के बंटवारे को लेकर भाजपा से लिखित आश्वासन चाहती थी. उन्होंने यह भी दावा किया है कि भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद साझा करने को लेकर चुनाव से पहले ही सहमति हो गई थी. भाजपा इस बात को खारिज कर रही है. इस सबके चक्कर मे चुनाव नतीजे आने के करीब दो हफ्ते बाद भी महाराष्ट्र में सरकार नहीं बन सकी है. मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल नौ नवंबर को यानी दो दिन बाद खत्म होना है