राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट कल यानी शनिवार को अपना फैसला सुनायेगा. पीटीआई के मुताबिक प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एसए बोबडे, न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर की पांच सदस्यीय संविधान पीठ शनिवार सुबह साढ़े दस बजे यह फैसला सुनायेगी.

धार्मिक भावनाओं और राजनीति के लिहाज से बेहद संवेदनशील इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 16 अक्ट्रबर को सुनवाई पूरी कर ली थी. उसने बीती छह अगस्त से लगातार 40 दिन इस मामले में सुनवाई की थी.

अयोध्या मामले में फैसला आने के मद्देनजर केंद्र सरकार ने सभी राज्यों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है. इसमें उनसे अतिरिक्त सतर्कता बरतने को कहा गया है. केंद्र ने उत्तर प्रदेश में तैनाती के लिए अतिरिक्त बलों की 40 कंपनियां भी भेजी हैं. उसने योगी आदित्यनाथ सरकार को अयोध्या में सभी सुरक्षा तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिए भी आगाह किया है.

इस सबके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने सभी मंत्रियों को कोर्ट के फैसले के संबंध में अनावश्यक बयान देने से बचने के लिए कहा है.