अयोध्या विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के फैसले पर प्रतिक्रियाएं जारी हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा. प्रधानमंत्री ने इसे लेकर सिलसिलेवार ट्वीट किए. उन्होंने कहा, ‘इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है. देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला कई वजहों से महत्वपूर्ण है. उन्होंने लिखा, ‘यह बताता है कि किसी विवाद को सुलझाने में कानूनी प्रक्रिया का पालन कितना अहम है. हर पक्ष को अपनी-अपनी दलील रखने के लिए पर्याप्त समय और अवसर दिया गया. न्याय के मंदिर ने दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान कर दिया.’

उधर, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने अपील कि देश की एकता और सद्भावना बनाए रखने में सभी सहयोग करें. गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट का यह ऐतिहासिक निर्णय अपने आप में एक मील का पत्थर साबित होगा. उनका यह भी कहना था कि यह निर्णय भारत की एकता, अखंडता और महान संस्कृति को और बल प्रदान करेगा.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए कहा है कि इससे देश का सामाजिक ताना-बाना मजबूत होगा. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुखिया मोहन भागवत का कहना है कि अतीत की बातों को भुलाकर अब सबको मिलकर भव्य राम मंदिर का निर्माण करना चाहिए.

उधर, विपक्षी कांग्रेस ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को किसी की भी हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि कांग्रेस राम मंदिर निर्माण के पक्ष में है. कांग्रेस ने लोगों से सामाजिक सौहार्द बनाए रखने की भी अपील की है. उधर, पार्टी नेता और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि सभी को मिलकर फैसले का सम्मान करना चाहिए.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि इससे कई दशकों से जारी विवाद खत्म हुआ. साथ ही उन्होंने लोगों से शांति एवं सौहार्द बनाए रखने की अपील की है.