‘उच्चतम न्यायालय सर्वोच्च है लेकिन ऐसा नहीं कि उससे कभी गलती न हो.’ 

— असदुद्दीन ओवैसी, एमआईएम प्रमुख

असदुद्दीन ओवैसी ने यह बात अयोध्या मामले पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कही. उनका कहना था कि यह तथ्यों के बजाय आस्था की जीत है और मुसलमान इस फैसले से संतुष्ट नहीं हैं. सुप्रीम कोर्ट ने विवादित 2.77 एकड़ जमीन हिंदू पक्ष को देते हुए कहा है कि मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही मस्जिद के निर्माण के लिए पांच एकड़ जमीन अलग से दी जाए.

‘मैं उम्मीद करता हूं कि संयुक्त राष्ट्र इस मामले को उठाएगा.’  

— सैम ब्राउनबैक, अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता मामलों के लिए अमेरिका के विशेष दूत

सैम ब्राउनबैक ने यह बात दलाई लामा का उत्तराधिकारी चुने जाने के मसले पर कही है. उनके मुताबिक अमेरिका चाहता है कि यह मुद्दा संयुक्त राष्ट्र में उठाया जाए ताकि तिब्बतियों के आध्यात्मिक नेता का उत्तराधिकारी चुनने की चीन की कोशिश को रोका जा सके. अमेरिकी विशेष दूत ने कहा कि उन्होंने 84 वर्षीय दलाई लामा से धर्मशाला में पिछले सप्ताह मुलाकात करके उत्तराधिकारी के मामले पर लंबी चर्चा की थी.


‘कुछ समय के लिये ऋषभ पंत से निगाहें हटा लीजिये.’

— रोहित शर्मा, भारतीय क्रिकेट टीम के कार्यवाहक कप्तान

रोहित शर्मा ने यह बात इन दिनों आलोचनाओं से घिरे ऋषभ पंत का समर्थन करते हुए कही. बांग्लादेश के खिलाफ मौजूदा टी20 सीरीज में कई मौकों पर ऋषभ पंत के शाट चयन की काफी आलोचना हुई है. राजकोट में बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टी20 में उनकी विकेटकीपिंग पर भी सवाल उठे. रोहित शर्मा ने कहा कि पंत निर्भीक क्रिकेटर हैं और टीम प्रबंधन उन्हें आजादी देना चाहता है.


‘ऐतिहासिक करतारपुर साहिब गलियारे को खोलना क्षेत्रीय शांति बनाए रखने में पाकिस्तान की प्रतिबद्धता का प्रमाण है.’  

— इमरान खान, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का यह बयान करतारपुर कॉरीडोर के उद्घाटन के मौके पर आया है. चार किलोमीटर लंबा यह कॉरीडोर पाकिस्तान के करतारपुर स्थित दरबार साहिब को भारतीय सीमा में स्थित डेरा नानक से जोड़ेगा. इसके जरिये रोज पांच हजार श्रद्धालु बिना वीजा के इस पवित्र स्थल तक जा सकेंगे.