महाराष्ट्र में सरकार गठन की कवायद एक नए मोड़ पर पहुंच गई है. रविवार को मुंबई में भाजपा की बैठक के बाद देवेंद्र फडणवीस राजभवन पहुंचे और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को सरकार बनाने से इनकार कर दिया.

महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने प्रेस कांफ्रेस कर इसकी जानकारी दी. चंद्रकांत पाटिल ने शिवसेना पर निशाना साधते हुए कहा, ‘विधानसभा चुनावों में भाजपा ने शिवसेना व अन्य दलों के साथ मिलकर गठबंधन बनाया था. जनता ने गठबंधन को जनादेश देकर सरकार चलाने की जिम्मेदारी दी, लेकिन शिवसेना ने जनादेश का अनादर कर दिया. लिहाजा हम राज्यपाल को जानकारी देने के लिए आए हैं कि हम सरकार नहीं बनाएंगे.’ उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने भाजपा को सरकार बनाने का निमंत्रण दिया था, लेकिन बहुमत की संख्या नहीं होने की वजह से पार्टी सरकार नहीं बनाएगी.

महाराष्ट्र में 24 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के नतीजों की घोषणा की गई थी. विधानसभा चुनाव में भाजपा को 105 सीटें और शिवसेना को 56 सीटें मिलीं. वहीं राकांपा को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली थी. राज्य की 288 सदस्यीय विधानसभा में सरकार बनाने के लिये 145 विधायकों का समर्थन जरूरी है.

मुख्यमंत्री पद को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच खींचतान जारी है. शिवसेना इस पद के लिए 50:50 का फार्मूला चाहती है, लेकिन भाजपा इस पर तैयार नहीं है.