शिवसेना का एनडीए से बाहर होना तय दिख रहा है. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल उसके इकलौते मंत्री अरविंद सावंत ने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने इसकी जानकारी एक ट्वीट के जरिये दी. भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय संभाल रहे अरविंद सावंत ने कहा शिवसेना का पक्ष सच्चाई है और झूठ के साथ नहीं रहा जा सकता. अरविंद सावंत के मुताबिक वे आज 11 बजे इस पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे.

अरविंद सावंत का इस्तीफा ऐसे समय पर आया है जब महाराष्ट्र में शिवसेना के कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने की खबरें हैं. खबरों के मुताबिक एनसीपी ने शिवसेना के सामने शर्त रखी थी कि उसे पहले एनडीए से नाता तोड़ना होगा. हालांकि शिवसेना और एनसीपी को सरकार बनाने के लिए कांग्रेस के भी समर्थन जरूरत पड़ेगी. उधर, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि आज 10 बजे हो रही एक बैठक में आलाकमान के निर्देश के मुताबिक फैसला लिया जाएगा.

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सरकार बनाने के लिए शिवसेना को न्योता दिया है. इससे पहले भाजपा ने उन्हें जानकारी दी थी कि वह सरकार नहीं बना सकती. इसके बाद राज्यपाल ने शिवसेना के विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे से अपनी पार्टी की इच्छा और बहुमत के आंकड़े की जानकारी देने को कहा. इसके लिए उन्हें आज शाम 7.30 बजे तक का वक्त दिया गया है. 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में भाजपा के 105 और शिवसेना के 56 सदस्य हैं. एनसीपी के सदस्यों की संख्या 54 और कांग्रेस के सदस्यों की संख्या 44 है. बहुमत का आंकड़ा 145 है.