महाराष्ट्र में सरकार गठन पर गतिरोध के बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार से मुलाकात की है. पीटीआई के मुताबिक सूत्रों ने बताया कि शिवसेना प्रमुख अपने बेटे आदित्य ठाकरे के साथ एनसीपी मुखिया से मिले. कांग्रेस और एनसीपी अपने-अपने स्तर पर बातचीत कर रहे हैं कि क्या राज्य में शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार को समर्थन दिया जाए. दोनों पार्टियां पहले ही घोषणा कर चुकी हैं कि जो भी फैसला होगा, वे मिलकर ही लेंगी.

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शिवसेना को सरकार गठन का दावा पेश करने के लिए आज शाम साढ़े सात बजे तक का समय दिया है. 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में शिवसेना के पास 56 सीटें हैं. राज्यपाल ने शिवसेना को तब आमंत्रित किया जब 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी भाजपा ने राज्य में सरकार गठन के लिए दावा पेश न करने का फैसला किया.

राज्य में 21 अक्टूबर को हुए चुनाव में एनसीपी ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी. यानी अगर शिवसेना विपक्षी दलों के समर्थन से सरकार बनाने का फैसला करती है तो सदन में तीनों पार्टियों के विधायकों की कुल संख्या 154 होगी जो बहुमत के 145 के आंकड़े से अधिक है.