महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कोशिश में लगी शिवसेना को बड़ा झटका लगा है. राज्यपाल ने शिवसेना को और समय देने से इनकार कर दिया है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात के बाद शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने मीडिया को यह जानकारी दी.

सोमवार देर शाम राज्यपाल से मुलाकात के बाद आदित्य ठाकरे ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘दोनों पार्टियां (कांग्रेस-एनसीपी) से हमारी बातचीत चल रही है, विधायक हमारे संपर्क में हैं. दूसरी सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते राज्यपाल के पास आना हमारा अधिकार था. हमने सरकार बनाने के लिए अपनी इच्छा व्यक्त की है...हमने राज्यपाल से प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 48 घंटे का समय मांगा, लेकिन उन्होंने समय देने से इनकार कर दिया है.’

आदित्य ठाकरे ने आगे कहा, ‘हमारा दावा खारिज नहीं हुआ है. हमने राज्यपाल को बताया कि हम सरकार बनाना चाहते हैं. अन्य दलों से हमारी बातचीत जारी है और उनका समर्थन पत्र हासिल करने में वक्त लग रहा है.’

उधर, कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन देने वाली खबरों का खंडन करते हुए कहा है कि अभी इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है. सोमवार देर शाम इस मसले पर दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की एक बैठक हुई. बैठक के बाद कांग्रेस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पार्टी ने अभी तक कोई फैसला नहीं लिया है और सोनिया गांधी फिर से एनसीपी प्रमुख शरद पवार से बातचीत कर आगे कोई फैसला लेंगी. इससे पहले खबर आयी थी कि उद्धव ठाकरे और सोनिया गांधी की बातचीत के बाद कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन देने का फैसला किया है.