कुछ दिन बेहतर रहने के बाद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता फिर ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई है. पीटीआई के मुताबिक शहर के बवाना, वजीरपुर, आनंद विहार और रोहिणी इलाके में आज सुबह नौ बजकर 36 मिनट पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) क्रमश: 445, 442 , 442 और 440 रहा. सरकार की वायु गुणवत्ता निगरानी सेवा ‘सफर’ के अनुसार शहर की वायु गुणवत्ता सोमवार को ‘अत्यंत खराब’ श्रेणी में थी जो अब ‘गंभीर’ श्रेणी में है. रविवार को एक्यूआई 360 रहा था.

वहीं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के नोएडा में एक्यूआई 436 जबकि गाजियाबाद में 445 दर्ज किया गया. ग्रेटर नोएडा, गुड़गांव और फरीदाबाद में एक्यूआई क्रमश: 436, 365 और 404 रहा. एक्यूआई 0-50 के बीच ‘अच्छा’, 51-100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101-200 के बीच ‘मध्यम’, 201-300 के बीच ‘खराब’, 301-400 के बीच ‘अत्यंत खराब’, 401-500 के बीच ‘गंभीर’ और 500 के पार ‘बेहद गंभीर और आपात’ माना जाता है. विशेषज्ञों के मुताबिक सर्दियों के आगाज के साथ ही न्यूनतम तापमान में गिरावट से हवा में ठंडक बढ़ गई है और भारीपन आ गया है. इसके चलते प्रदूषक तत्व जमीन के निकट जमा हो रहे हैं. दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए इन दिनों ऑड-ईवन योजना भी चल रही है.