‘कांग्रेस के सहयोग और तीनों दलों के बीच विचार विमर्श के बिना सरकार का गठन नहीं हो सकता.’  

— नवाब मलिक, एनसीपी प्रवक्ता

नवाब मलिक का यह बयान महाराष्ट्र में सरकार के गठन को लेकर उनकी पार्टी, कांग्रेस और शिवसेना में जारी गतिरोध के बीच आया है. एनसीपी मुखिया कह चुके हैं कि शिवसेना को समर्थन देने को लेकर उनकी पार्टी और कांग्रेस का फैसला एक ही होगा. उधर, केंद्र ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश कर दी है.

‘पार्टी 50 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी.’ 

— चिराग पासवान, लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष

महाराष्ट्र के बाद अब भाजपा झारखंड में भी सहयोगी पार्टियों को लेकर मुश्किल में फंसती दिख रही है. इससे पहले उसकी एक और अन्य सहयोगी आजसू ने भी राज्य की उन चार सीटों पर भी उम्मीदवार उतारने की घोषणा की थी जिन पर भाजपा पहले ही उम्मीदवार घोषित कर चुकी है. पिछला विधानसभा चुनाव ये तीनों पार्टियां मिलकर लड़ी थीं.


‘बोलीविया में इवो मोरालेस की जान को खतरा है.’  

— मार्सेलो एबरार्ड, मैक्सिको के विदेश मंत्री

मार्सेलो एबरार्ड का यह बयान बोलीविया के राष्ट्रपति पद से इस्तीफा दे चुके इवो मोरालेस को शरण देने का ऐलान करते हुए आया है. उन्होंने कहा कि यह फैसला मैक्सिको ने मानवीय आधार पर लिया है. इवो मोरालेस को चुनाव में धांधली के आरोपों के चलते इस्तीफा देना पड़ा है.