कर्नाटक उपचुनाव के लिए भाजपा ने कांग्रेस-जेडीएस के 13 बागी विधायकों को उम्मीदवार बनाया है. यह चुनाव पांच दिसंबर को होना है. ये वही विधायक हैं जिन्हें अयोग्य घोषित करने का पूर्व विधानसभा अध्यक्ष का फैसला सुप्रीम कोर्ट ने बरकरार रखा था, लेकिन उन्हें उपचुनाव लड़ने की इजाजत दे दी थी.

ये कुल 17 विधायक थे. इनमें से 15 आज ही भाजपा में शामिल हुए हैं. कर्नाटक पार्टी मुख्यालय में आयोजित समारोह के दौरान इन्हें भाजपा की सदस्यता दी गई. इस दौरान मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा व प्रदेश अध्यक्ष नलिन कुमार कटील भी मौजूद रहे.

यह पूरा मामला तब शुरू हुआ था जब कुछ समय पहले इन विधायकों ने अपनी-अपनी पार्टियों से बगावत कर इस्तीफा दे दिया. इससे तत्कालीन कांग्रेस-जेडीएस सरकार अल्पमत में आ गई और आखिरकार मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को इस्तीफा देना पड़ा. इसी दौरान तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने इन विधायकों को अयोग्य ठहरा दिया था. उन्होंने इन विधायकों को अगले विधानसभा चुनाव तक के लए अयोग्य ठहराया था. इसके खिलाफ ये सभी सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे.