महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर उठापटक जारी है. शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपीॆ के बीच न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर बातचीत जारी होने की घोषणा के बाद अब भाजपा ने भी सरकार बनाने की कवायद तेज कर दी है. महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने दावा किया है कि उनकी पार्टी को 119 विधायकों का समर्थन हासिल है और वह जल्द ही राज्य में सरकार का गठन करेगी.

शुक्रवार देर शाम मुंबई में मीडिया से बातचीत में चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि 21 अक्टूबर को हुए चुनाव में भाजपा को 105 सीटें मिली थीं, लेकिन उसके पास कुछ निर्दलीय विधायकों का समर्थन भी है. उनका कहना था, ‘हमारे पास सबसे ज्यादा विधायक हैं. 119 विधायकों (105 भाजपा और 14 निर्दलीय) के साथ हम राज्य में सरकार बनाएंगे. देवेंद्र फड़णवीस ने पार्टी के नेताओं के सामने यह विश्वास जताया था. हम राज्य को एक स्थिर सरकार देने के लिए प्रतिबद्ध हैं. भाजपा के बिना महाराष्ट्र में कोई सरकार नहीं हो सकती.’

महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को 288 सीटों के लिये हुआ विधानसभा चुनाव भाजपा-शिवसेना ने मिलकर लड़ा था और दोनों को क्रमश: 105 और 56 सीटें मिली थीं. दोनों दलों को मिली सीटें बहुमत के लिये जरूरी 145 के आंकड़े से ज्यादा थीं. लेकिन मुख्यमंत्री पद साझा करने पर सहमति नहीं बन पाने के बाद भाजपा और शिवसेना का गठबंधन टूट गया. इसके बाद से ही राज्य में गतिरोध जारी है.

सरकार बनाने की कवायद के तहत अब शिवसेना कांग्रेस और एनसीपीॆ से बातचीत कर रही है. इन तीनों के बीच एक न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर वार्ता भी जारी है. इन तीनों दलों के नेताओं का कहना है कि जल्द ही राष्ट्रपति शासन हटेगा और राज्य में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपीॆ की सरकार बनेगी. 21 अक्टूबर को हुए चुनाव में एनसीपी ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी.