श्रीलंका के राष्ट्रपति चुनाव में श्रीलंका पोडुजाना पेरामुना (एसएलपीपी) के उम्मीदवार गोटबाया राजपक्षे को बड़ी जीत मिली है. उन्हें करीब 54 फीसदी वोट मिले हैं. इस चुनाव में राजपक्षे ने न्यू डेमोक्रेटिक फ्रंट (एनडीएफ) के साजित प्रेमदासा को शिकस्त दी है. गोटबाया राजपक्षे श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति और दिग्गज नेता महिंदा राजपक्षे के भाई हैं.

पीटीआई के मुताबिक सत्तारूढ़ पार्टी के उम्मीदवार साजित प्रेमदासा ने अपनी हार स्वीकार कर ली है और अपने मुख्य प्रतिद्वंद्वी गोटबाया राजपक्षे को बधाई दी है. प्रेमदासा ने कहा, ‘लोगों के निर्णय का सम्मान करना और श्रीलंका के सातवें राष्ट्रपति के तौर पर चुने जाने के लिए गोटबाया राजपक्षे को बधाई देना मेरे लिए सौभाग्य की बात है.’

श्रीलंकाई मीडिया के मुताबिक शनिवार को हुए राष्ट्रपति चुनाव में गोटबाया राजपक्षे को जहां सिंहली बहुल क्षेत्रों में बड़ा जनसमर्थन मिला है, वहीँ साजित प्रेमदासा तमिल बहुल उत्तरी और पूर्वी हिस्सों में आगे रहे.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोटबाया राजपक्षे को जीत पर बधाई दी है. नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट में लिखा, ‘गोटबाया राजपक्षे आपको राष्ट्रपति चुनावों में जीत के लिये बधाई . मैं, हमारे दोनों देशों और नागरिकों के बीच घनिष्ठ तथा भाइचारे वाले संबंधों को और अधिक मजबूत करने, शांति, समृद्धि और क्षेत्र में सुरक्षा के लिये आपके साथ मिलकर काम करने की आशा करता हूं.’