दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्रों द्वारा संसद मार्च की योजना को देखते हुए विश्वविद्यालय के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किए गए हैं. यह मार्च संसद सत्र के पहले दिन हो रहा है. जेएनयू में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं बढ़े हुए शुल्क के खिलाफ पिछले तीन सप्ताह से प्रदर्शन कर रहे हैं. विश्वविद्यालय प्रशासन ने बुधवार को बढ़े हुए शुल्क में आंशिक तौर पर कमी की थी. लेकिन छात्र संगठन पीछे हटने को तैयार नहीं हैं. उन्होंने शुल्क में इस कमी को आंखों में धूल झोंकने वाला करार दिया है.

पीटीआई के मुताबिक पुलिस ने बताया कि विश्वविद्यालय के बाहर पुलिस की 10 कंपनियां तैनात हैं. एक कंपनी में 70-80 पुलिसकर्मी होते हैं. उधर, जेएनयू शिक्षक संगठन (जेएनयूटीए) ने विश्वविद्यालय के बाहर पुलिस की तैनाती को लेकर चिंता जाहिर की है. संगठन ने कहा कि बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय के प्रवेश द्वार पर पुलिस की तैनाती और अवरोधक लगाने से ऐसा लगता है कि यह छात्रों को संसद मार्च नहीं करने देने के विचार से किया गया है. वहीं पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मार्च के रास्ते में पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है. एक अधिकारी ने बताया कि पुलिसकर्मी संसद की ओर जाने वाले सभी प्रवेश रास्तों पर तैनात हैं.