जो लोग दिल्ली में नर्सरी की पढ़ाई के लिये अपने बच्चों की एक लाख रुपये सालाना फीस भरते हैं, क्या ऐसे लोगों के लिये भी दस और बीस रुपये फीस देने की मांग करना जायज है? क्या ऐसे लोग उच्च शिक्षा के लिये 50 हजार रुपये फीस नहीं दे सकते?’  

— जीवीएल नरसिम्हा राव, भाजपा नेता

राज्यसभा सदस्य जीवीएल नरसिम्हा राव का यह बयान दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में विभिन्न शुल्कों में बढ़ोतरी के फैसले के खिलाफ छात्रों के विरोध पर आया. उन्होंने कहा कि जो भी बढ़ोतरी हुई है वह तर्कसंगत है. जेएनयू के छात्र पिछले तीन हफ्तों से इसका विरोध कर रहे हैं.

‘आपस में झगड़ने से दोनों की हानि होती है.’

— मोहन भागवत, आरएसएस प्रमुख

मोहन भागवत का यह बयान महाराष्ट्र में लंबे समय तक भाजपा के साथ रहने के बाद उससे अलग हुई शिवसेना को नसीहत देते हुए आया है. विधानसभा चुनाव साथ लड़ी इन दोनों पार्टियों ने मुख्यमंत्री पद को लेकर राहें अलग कर ली हैं. शिवसेना अब सरकार बनाने के लिए एनसीपी और कांग्रेस से बात कर रही है.


अल्पसंख्यकों के बीच अतिवाद सामने आ रहा है. ठीक वैसे ही जैसे हिंदुओं में है. एक राजनीतिक पार्टी है जो भाजपा से पैसा लेती है. वो हैदराबाद से है न कि पश्चिम बंगाल से.’ 

— ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

तृणमूल कांग्रेस मुखिया ममता बनर्जी का यह बयान असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम पर निशाना साधते हुए आया. ओवैसी ने भी इस पर प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि ऐसे आरोप लगाकर ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल के मुस्लिमों को ये संदेश दे रही हैं कि एआईएमआईएम राज्य में तेजी से उभर रही है. उन्होंने राज्य विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार उतारने का ऐलान भी किया.


‘दिल्ली के सीएम अपने आप में प्रदूषण हैं.’ 

— प्रवेश वर्मा, भाजपा नेता और सांसद

प्रवेश वर्मा का यह बयान लोकसभा में प्रदूषण पर चर्चा के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए आया. उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल विज्ञापनों पर 600 करोड़ रुपये खर्च करके पराली-पराली चिल्ला रहे हैं और प्रदूषण के लिए अपनी जिम्मेदारी से हटकर हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. दिल्ली में वायु प्रदूषण की गंभीर स्थिति लगातार सुर्खियों में है.