गृह मंत्री अमित शाह ने दावा किया है कि जम्मू-कश्मीर में हालात पूरी तरह सामान्य हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि राज्य के 195 थाना क्षेत्रों में से अब कहीं भी धारा 144 लागू नहीं है. अमित शाह का यह भी कहना था कि सिर्फ कुछ जगहों पर एहतियान रात के आठ बजे से सुबह छह बजे तक इसे लागू किया जाता है. उन्होंने यह भी बताया कि राज्य में हिंसा और पत्थरबाजी की घटनाओं में काफी कमी आई है. गृह मंत्री ने ये बातें राज्य सभा में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के सवालों के जवाब में कहीं.

अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में जहां तक इंटरनेट सेवाओं को बहाल करने का सवाल है तो उचित समय पर वहां के प्रशासन की अनुशंसा के आधार पर ही यह किया जा सकता है. गृहमंत्री का कहना था, ‘कश्मीर में पड़ोसी देश के द्वारा बहुत सारी गतिविधियां चलती रहती है और वहां की कानून व्यवस्था और सुरक्षा को देखकर ही ये निर्णय लिया जा सकता है.’

बीती पांच अगस्त को केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने का ऐलान किया था. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख नाम के ये दोनों प्रदेश वजूद में आ चुके हैं. इस ऐलान के साथ ही राज्य में परिवहन से लेकर फोन सेवाओं तक तमाम सुविधाओं पर पाबंदियां लगा दी गई थीं जिनमें से ज्यादातर हटाई जा चुकी हैं.