हवा की गति कम होने और आर्द्रता का स्तर अधिक होने के कारण दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के कई हिस्सों में वायु गुणवत्ता फिर बेहद खराब श्रेणी में पहुंच गई है. पीटीआई के मुताबिक अगले 24 घंटे में प्रदूषण से हालात और बिगड़ सकते हैं. हालांकि शनिवार तक कुछ राहत मिलने की उम्मीद है.

राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार दोपहर डेढ़ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक एक्यूआई 361 था. एनसीआर क्षेत्रों की बात करें तो गाजियाबाद में यह 412, ग्रेटर नोएडा में 395, नोएडा में 394 दर्ज किया गया. 201 से लेकर 300 के बीच एक्यूआई को ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘बहुत खरािकब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी का माना जाता है. मौसम विभाग के एक वरिष्ठ वैज्ञानिक ने कहा कि वायु गुणवत्ता शुक्रवार को बेहद खराब श्रेणी में बनी रह सकती है.

उधर, निजी मौसम विज्ञान संस्था स्काईमेट वेदर ने कहा कि 23 नवंबर से हल्की हवा चल सकती है जिससे कुछ राहत मिलेगी. लेकिन उसके मुताबिक यह भी अस्थायी होगी क्योंकि 25 नवंबर से एक और पश्चिमी विक्षोभ बन रहा है जिससे हवा की गति फिर मंद पड़ सकती है. 25 और 26 नवंबर को अच्छी बारिश होने की उम्मीद है. ऐसा होता है तो प्रदूषण से ठीक-ठाक राहत मिल सकती है.