राजस्थान के मयंक प्रताप सिंह का कारनामा सुर्खियों में है. 21 साल के मयंक प्रताप भारत में सबसे कम उम्र में जज बनने वाले शख्स बन गए हैं. वे राजस्थान के जयपुर से हैं. उन्होंने पहले ही प्रयास में राजस्थान न्यायिक सेवा परीक्षा में पहला स्थान हासिल करते हुए यह उपलब्धि अपने नाम की है.

मयंक प्रताप सिंह ने इसी साल राजस्थान यूनिवर्सिटी से एलएलबी की पढ़ाई पूरी की है. उनका कहना है कि वे हमेशा न्यायिक सेवाओं और समाज में जजों को मिलने वाले सम्मान के प्रति आकर्षित रहे. मयंक ने अपनी सफलता के लिए अपने परिवार, शिक्षकों और शुभचिंतकों को धन्यवाद भी दिया है.

2018 तक न्यायिक सेवा परीक्षा में बैठने की न्यूनतम उम्र 23 साल थी. इसी साल राजस्थान हाई कोर्ट ने इसे घटाकर 21 साल किया था. मयंक प्रताप सिंह ने कहा, ‘इस कारण ही मैं इस परीक्षा में बैठ पाया. अब मुझे लगता है कि इस अवसर से मैं बहुत जल्दी काफी सारी चीजें और सीख पाऊंगा.’