महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे पर लोकसभा में अपनी सांसद प्रज्ञा ठाकुर के बयान के बाद भाजपा बैकफुट पर आती दिख रही है. पीटीआई के मुताबिक पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि भाजपा प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी की निंदा करती है. उनका कहना था, ‘पार्टी ऐसे बयानों का कभी समर्थन नहीं करती.’

जेपी नड्डा के मुताबिक प्रज्ञा ठाकुर को रक्षा मामलों की परामर्श समिति से हटाये जाने की सिफारिश भी की गई है. उन्होंने यह भी बताया कि भाजपा सांसद संसद सत्र के दौरान पार्टी संसदीय दल की बैठक में हिस्सा नहीं ले सकेंगी.

भोपाल से भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कल लोकसभा में नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहा था. सदन में एसपीजी संशोधन बिल पर डीएमके सांसद ए राजा अपनी राय रख रहे थे. इस दौरान ए राजा ने गोडसे के एक बयान का जिक्र करते हुए कहा, ‘गोडसे ने कहा था कि उसने महात्मा गांधी को क्यों मारा था.’

जब ए राजा बोल ही रहे थे, उसी समय प्रज्ञा ठाकुर ने बीच में दखल देते हुए उनसे कहा, ‘आप एक देशभक्त का उदाहरण नहीं दे सकते हैं.’ प्रज्ञा ठाकुर के इतना कहते ही लोकसभा में हंगामा मच गया. हालांकि इस बयान को लोकसभा की कार्यवाही से हटा दिया गया है. इसके बाद भाजपा के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा था कि पार्टी जल्द ही प्रज्ञा ठाकुर पर कार्रवाई कर सकती है.

उधर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी प्रज्ञा ठाकुर के बयान को गलत बताया है. उन्होंने कहा कि नाथूराम गोडसे को देशभक्त मानने की सोच की पार्टी पूरी तरह निंदा करती है.