भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के लोकसभा में दिए गए विवादित बयान पर हंगामा जारी है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसे लेकर भाजपा पर हमला बोला है. पीटीआई के मुताबिक उन्होंने कहा कि यह देश की संसद के इतिहास में एक ‘दुखद दिन’ है. राहुल गांधी ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘यह भाजपा और आरएसएस की आत्मा है. यह उनके दिल में है. कितनी भी कोशिश कर लें, लेकिन इसे छिपा नहीं सकते. यह बाहर आ ही जाता है.’ उनका आगे कहना था, ‘भाजपा के लोग महात्मा गांधी की कितनी भी पूजा कर लें, लेकिन उनकी आत्मा यही है.’

इससे पहले राहुल गांधी ने प्रज्ञा ठाकुर की विवादित टिप्पणी का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘आतंकवादी प्रज्ञा ने आतंकवादी गोडसे को देशभक्त बताया. यह भारत के संसद के इतिहास का एक दुखद दिन है.’

प्रज्ञा ठाकुर ने बुधवार को लोकसभा में एसपीजी संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान उस वक्त विवादित टिप्पणी की थी जब द्रमुक सदस्य ए राजा बोल रहे थे. उन्होंने महात्मा गांधी की हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था. प्रज्ञा की टिप्पणी को सदन की कार्यवाही से हटा दिया गया है.

उधर, भाजपा ने भी प्रज्ञा ठाकुर पर कार्रवाई करते हुए उन्हें रक्षा मामलों की संसदीय समिति से हटाने की सिफारिश की है. पार्टी नेता और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि नाथूराम गोडसे को देशभक्त मानने की सोच की भाजपा पूरी तरह निंदा करती है. उनका कहना था, ‘महात्मा गांधी पहले भी हमारे मार्गदर्शक थे और आज भी हैं. उनके विचार पहले भी प्रासंगिक थे और आज भी प्रासंगिक हैं.’