कांगो : विमान हादसे में 27 लोगों की मौत | रविवार, 24 नवंबर 2019

कांगो में हुए एक विमान हादसे में 27 लोगों की मौत हो गई. स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक 19 सीटों वाला यह विमान देश के पूर्वी शहर गोमा के हवाई अड्डे से उड़ान भरने के थोड़ी ही देर बाद एक घनी आबादी वाले इलाके में क्रैश हो गया. विमान में 17 यात्री और पायलट दल के दो सदस्य सवार थे. इन सभी की मौत हो गई. मरने वालों में बाकी जमीन पर थे. हादसे में कई मकान भी तबाह हुए. जांच में हादसे की वजह तकनीकी खराबी बताई गयी. हादसे के बाद एक व्यक्ति को विमान के मलबे से नकदी लूटने के आरोप में भी गिरफ्तार किया गया. लूट की कोशिश कर रहे कई दूसरे लोगों को पुलिस ने लाठीचार्ज करके हटाया.

सबसे बड़े धनकुबेरों में से एक माइकल ब्लूमबर्ग अमेरिकी राष्ट्रपति के पद की दौड़ में शामिल हुए | सोमवार, 25 नवंबर 2019

अमेरिका में अगले साल राष्ट्रपति चुनाव में दो धनकुबेरों की टक्कर हो सकती है. इस पद की उम्मीदवारी के लिए न्यूयॉर्क सिटी के पूर्व मेयर माइकल ब्लूमबर्ग ने औपचारिक रूप से दावेदारी पेश कर दी. 58 अरब डॉलर की संपत्ति वाले माइकल ब्लूमबर्ग दुनिया के 14वें सबसे अमीर शख्स हैं. उनकी कंपनी ब्लूमबर्ग वित्तीय सेवाओं से लेकर मीडिया तक तमाम क्षेत्रों में सक्रिय है. उन्होंने उम्मीदवारी की होड़ जीतने के लिए 10 करोड़ डॉलर विज्ञापन पर खर्च करने की योजना बनाई है.

माना जा रहा है कि 77 साल के माइकल ब्लूमबर्ग राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के आधिकारिक प्रत्याशी बनने की होड़ में शामिल होने वाले आखिरी नेता हैं. प्रत्याशी चुनने का काम अगले साल तीन फरवरी से आयोवा कॉकस की प्राइमरी में मतदान से होगा. माइकल ब्लूमबर्ग को भारत की तरफ झुकाव वाला नेता माना जाता है. वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अच्छे दोस्त भी बताए जाते हैं. पिछले कई सालों से वे नियमित रूप से भारत आते रहे हैं.

पाकिस्तान ने यूएन सुरक्षा परिषद् में भारत की स्थायी और अस्थायी सदस्यता का विरोध किया | मंगलवार, 26 नवंबर 2019

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में भारत की स्थायी और अस्थायी सदस्यता का विरोध किया. पीटीआई के मुताबिक मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र में विश्व समुदाय को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के प्रतिनिधि मुनीर अकरम ने कहा, ‘हमारी दृष्टि में जी-4 समूह का कम से कम एक सदस्य सुरक्षा परिषद् का स्थायी या अस्थायी सदस्य होने की योग्यता नहीं रखता है.’ अपने सम्बोधन में मुनीर अकरम ने कश्मीर मुद्दे का भी उल्लेख किया. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के मसले पर पिछले दिनों भारत ने सुरक्षा परिषद् के प्रस्तावों का खुलेआम उल्लंघन किया है.

15 सदस्यों वाली दुनिया की सबसे ताक़तवर संस्था संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच अस्थायी सदस्यों का कार्यकाल ख़त्म हाेने वाला है. इन सीटों को भरने के लिए अगले साल जून में चुनाव होने वाले हैं. नए चुने गए सदस्यों का कार्यकाल 2022 तक रहेगा. दुनिया के 193 सदस्य देशों वाली संयुक्त राष्ट्र महासभा हर साल सुरक्षा परिषद के पांच अस्थायी सदस्यों का दो साल के लिए चुनाव करती है. भारत इससे पहले सात बार सुरक्षा परिषद का अस्थायी सदस्य रह चुका है.

बांग्लादेश : 2016 के आतंकी हमले के सात दोषियों को फांसी की सजा | बुधवार, 27 नवंबर 2019

बांग्लादेश में 2016 में हुए आतंकी हमले के मामले में सात दोषियों को मौत की सजा सुनायी गई. यह हमला ढाका के एक कैफे में हुआ था. देश के इतिहास में सबसे भीषण इस आतंकी हमले में 20 लोग मारे गये थे. इनमें एक भारतीय छात्रा भी शामिल थी.

इस हमले के लिए इस्लामिक स्टेट को जिम्मेदार माना गया था. पीटीआई के मुताबिक जांच में पता चला कि दोषियों ने आतंकियों को या तो धन मुहैया कराया था या फिर उन्हें हथियारों की आपूर्ति की थी. अदालत ने मामले में आरोपित एक शख्स को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया. हमले का मास्टरमाइंड बांग्लादेश मूल के एक कनाडाई नागरिक को बताया गया था. वह पहले ही सुरक्षा बलों के एक अभियान में मारा गया था.

फर्जी अमेरिकी विश्वविद्यालय से 90 और छात्र पकड़े गए, अधिकांश भारतीय | गुरूवार, 28 नवंबर 2018

आव्रजन यानी इमिग्रेशन धोखाधड़ी की जांच के लिए अमेरिकी सरकार द्वारा स्थापित किए गए एक फर्जी विश्वविद्यालय से 90 विदेशी छात्रों को पकड़ा गया. इनमें से अधिकांश भारतीय हैं. पीटीआई के मुताबिक अमेरिकी आव्रजन और सीमाशुल्क प्रवर्तन एजेंसी (आसीई) ने अब तक कुल 250 से अधिक छात्रों को पकड़ा. इन छात्रों को गृह मंत्रालय ने डेट्रॉइट मेट्रोपोलिटन क्षेत्र में स्थित फार्मिंगटन विश्वविद्यालय में प्रवेश का लालच दिया था.

यह विश्वविद्यालय अब बंद हो चुका है. आईसीई ने मार्च में इस फर्जी विश्वविद्यालय से 161 छात्रों को पकड़ा था. मार्च में जब यह विश्वविद्यालय बंद हुआ तो इसमें 600 छात्र थे जिनमें से अधिकांश भारतीय थे. आईसीई के प्रवक्ता ने बताया कि अब तक गिरफ्तार किए गए 250 छात्रों में से लगभग 80 फीसदी को अमेरिका से लौटने की अनुमति दे दी गई है. बाकी के 20 फीसदी छात्रों में से लगभग आधे छात्रों को लौटने का अंतिम आदेश मिल चुका है. संघीय अभियोजकों ने दावा किया कि छात्रों को यह पता था कि यह विश्वविद्यालय फर्जी है क्योंकि यहां कोई कक्षाएं ही नहीं होती थीं.

अफगानिस्तान : डोनाल्ड ट्रंप ने तालिबान के साथ फिर बातचीत शुरू करने की घोषणा की | शुक्रवार, 29 नवंबर 2019

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान पहुंचकर तालिबान के साथ एक बार फिर शांति वार्ता शुरू करने की घोषणा कर दी. हालांकि, उन्होंने अपने सैनिकों को अफगानिस्तान से वापस बुलाने की समयसीमा पर बोलने से मना कर दिया. पीटीआई के मुताबिक अफगानिस्तान के ‘बगराम एयर फील्ड’ में जब पत्रकारों ने डोनाल्ड ट्रंप से तालिबान से दोबारा बातचीत शुरू करने को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा, ‘हां बातचीत फिर शुरू हो रही है. तालिबान समझौता करना चाहता है और हम उनसे मिलने वाले हैं. जब हम संघर्ष विराम चाहते थे, वे संघर्ष विराम नहीं चाहते थे और अब वे संघर्ष विराम चाहते हैं. मुझे लगता है कि अब बातचीत सफल हो पाएगी.’

संयुक्त राष्ट्र जलवायु शिखर सम्मेलन से पहले भारत से लेकर यूरोप और अमेरिका तक प्रदर्शन | शनिवार, 30 नवंबर 2019

संयुक्त राष्ट्र जलवायु शिखर सम्मेलन से पहले वैश्विक तापमान में बढ़ोतरी के खिलाफ नए सिरे से कदम उठाने और विश्व नेताओं पर दबाव बनाने के लिए यूरोप और एशिया में लाखों लोग सड़कों पर उतरे. पीटीआई के मुताबिक दिल्ली में करीब 50 स्कूलों और कॉलेज के छात्रों ने हाथ में तख्तियां लेकर नारेबाजी करते हुए पर्यावरण मंत्रालय की ओर मार्च किया. साथ ही उन्होंने सरकार से पर्यावरण आपातकाल घोषित करने की मांग भी की.

जर्मनी की राजधानी बर्लिन के मशहूर स्थल ‘ब्रांडेनबर्ग गेट’ पर भी हजारों लोग तख्तियां लिए नजर आए. इन पर लिखा था, ‘एक ग्रह, एक लड़ाई.’ ‘फ्राइडेस फॉर फ्यूचर’ नाम के के ताजा प्रदर्शन में जर्मनी के 500 से अधिक शहरों में करीब साढ़े छह लाख लोगों ने प्रदर्शन किया और बढ़ते तापमान के खिलाफ आवाज उठाई. स्पेन के मैड्रिड में 17,00 लोग इकट्ठा हुए. यहीं अगले सप्ताह संयुक्त राष्ट्र के सम्मेलन का आयोजन होगा. यह आयोजन दो से 13 दिसंबर तक चलेगा. भारत की तरफ से इसमें केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर हिस्सा लेंगे.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.