‘हमने विश्‍वासमत की पहली परीक्षा पास कर ली है. दूसरी परीक्षा विधानसभा अध्‍यक्ष का चुनाव है और हमें पूरा विश्‍वास है कि हम उसमें भी कामयाब होंगे.’  

— अजित पवार, एनसीपी नेता

एनसीपी नेता अजित पवार का यह बयान महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे द्वारा विश्वासमत हासिल करने पर आया. सरकार के पक्ष में 169 वोट पड़े. विपक्षी भाजपा के 105 विधायकों ने वाकआउट किया. अजित पवार पहले भाजपा के पाले में जाकर उपमुख्यमंत्री बन गए थे. लेकिन बाद में उन्होंने इस्तीफा दे दिया.

‘यह आर्थिक मंदी नहीं तो क्या है?’

— अशोक गहलोत, राजस्थान के मुख्यमंत्री

अशोक गहलोत ने यह बात मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कही. उन्होंने देश में आर्थिक वृद्धि दर में गिरावट को लेकर मोदी सरकार को अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर पूरी तरह विफल करार दिया. इस वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही में विकास दर 4.5 फीसदी रही जो बीते छह सालों में इसका न्यूनतम स्तर है.


‘भारत आज विश्व की सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था है.’  

— अमित शाह, गृह मंत्री

अमित शाह का यह बयान अर्थव्यवस्था की विकास दर छह साल के न्यूनतम स्तर पर पहुंचने के बीच आया है. इसे लेकर विपक्षी दलों ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. विपक्ष का कहना है कि नोटबंदी के ‘दूरगामी परिणाम’ दिखने लगे हैं. अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार अर्थव्यवस्था के आकार को बड़ा करने के लिए लगातार प्रयासरत है.