देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति-सुज़ुकी की हैचबैक ऑल्टो ने 38 लाख यूनिट बिक्री का आंकड़ा पार कर लिया है. यह उपलब्धि हासिल करने वाली वह भारत की पहली कार है. बाज़ार में ऑल्टो की लोकप्रियता इससे समझी जा सकती है कि यह बीते 15 साल से लगातार भारत की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार बनी हुई है. ऑल्टो की इस कामयाबी के लिए मारुति-सुज़ुकी ने इस कार के कॉम्पैक डिज़ाइन, उच्च ईंधन दक्षता, अपडेटेड सेफ्टी फीचर्स और न्यूनतम मेंटेनेंस को श्रेय दिया है. कंपनी द्वारा उपलब्ध करवाई गई जानकारी के मुताबिक ऑल्टो के कुल ग्राहकों में से 54 फीसदी ग्राहकों की यह पहली कार होती है.

मारुति-सुज़ुकी का दावा है कि नई ऑल्टो भारत में बीएस-6 मानकों पर खरी उतरने वाली सेगमेंट की पहली कार है जो 22.05 किलोमीटर प्रति लीटर की माइलेज के साथ बेहद किफायती भी है. इसके अलावा इसके साथ स्टैंडर्ड ड्राइवर साइड एयरबैग के अलावा सेगमेंट का पहला वैकल्पिक पैसेंजर एयरबैग उपलब्ध करवाया गया है. ऑल्टो के अन्य सेफ्टी फीचर्स में एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्‍टम (एबीएस) और इलेक्‍ट्रॉनिक ब्रेक फोर्स डिस्‍ट्रीब्‍यूशन सिस्‍टम (ईबीडी), रिवर्स पार्किंग सेंसर, स्‍पीड अलर्ट सिस्‍टम और ड्राइवर-को-ड्राइवर के लिए सीट बेल्‍ट रिमाइंडर शामिल हैं.

फास्टैग अनिवार्य करने की समय सीमा बढ़ी

केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय राजमार्गों पर रोड टैक्स वसूलने के लिए फास्टैग अनिवार्य करने की समय सीमा एक दिसंबर से बढ़ा कर 15 दिसंबर कर दी है. फास्टैग एक रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटीफिकेशन डिवाइस (आरएफआईडी) डिवाइस है जिसकी मदद से टोल नाकों पर इलेक्ट्रॉनिक तकनीक से रोड टैक्स वसूला जाएगा. सरकार की यह कवायद टोल प्लाजाओं पर लगने वाली लंबी लाइनों और उनकी वजह से बरबाद होने वाले समय को बचाने से जुड़ी है.

फास्टटैग को पेटीएम, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और सभी टोल प्लाजाओं से खरीदा जा सकता है. इसे डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई एप) में से किसी भी माध्यम से रीचार्ज किया जा सकता है. सरकार ने फास्टैग के मामलों में ग्राहकों की सहायता के लिए कस्टमर केयर नंबर 1033 की सुविधा शुरू की है.

बीएस-6 मानकों वाला टीवीएस जुपिटर

दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी टीवीएस ने अपने स्कूटर जुपिटर का बीएस-6 मानकों पर खरा उतरने वाला वर्ज़न लॉन्च कर दिया है. इस स्कूटर की शुरुआती एक्सशोरूम कीमत 67,911 रुपए तय की गई है. यह स्कूटर तीन रंगों- सनलाइट आइवरी, ऑटम ब्राउन और इंडिब्लू में पेश किया गया है. टीवीएस ने नए जुपिटर के तीन एडिशन- बेस, ज़ीएक्स और ग्रांड लॉन्च किए हैं.

जुपिटर टीवीएस का पहला वाहन है जिसे कंपनी ने बिल्कुल नई ईटी-एफआई तकनीक से लैस किया है. टीवीएस का दावा है कि इस तकनीक की मदद से नया जूपिटर 15 प्रतिशत ज्यादा माइलेज देने में सक्षम हो गया है. वहीं जूपिटर के एक अन्य वर्ज़न को आरटी-एफआई तकनीक से लैस किया गया है जो राइडर को रेसिंग जैसी ड्राइव का अनुभव देती है. जूपिटर 109.7 सीसी के इंजन के साथ आता है जो 8 बीएचपी की अधिकतम पॉवर के साथ 8.4 एनएम का टॉर्क पैदा करता है.

टीवीएस ने जुपिटर को 2013 में भारत में लॉन्च किया था. तब से इस स्कूटर को बाज़ार में शानदार प्रतिक्रिया मिल रही है. टीवीएस के मुताबिक जूपिटर देश में सबसे तेज दस लाख यूनिट बिक्री वाला स्कूटर बनने का कीर्तिमान स्थापित कर चुका है. इसने यह उपलब्धि लॉन्च होने के करीब ढाई साल में ही हासिल कर ली थी. भारतीय बाज़ार में अब तक जूपिटर की 30 लाख से ज्यादा यूनिट बिक चुकी हैं. बाज़ार में जूपिटर के प्रमुख प्रतिद्वंदियों में होंडा एक्टिवा, हीरो मेस्ट्रो और सुज़ुकी एक्सेस शामिल हैं.

टाटा की नई एसयूवी ग्राविटास

टाटा मोटर्स की नई एसयूवी ग्राविटास बाज़ार को दस्तक देने के लिए तैयार है. टाटा की यह पेशकश इसी साल लॉन्च हुई उसकी एसयूवी हैरियर पर आधारित है. अंतर सिर्फ़ यह है कि हैरियर 5-सीटर है जबकि ग्राविटास को टाटा मोटर्स ने 7-सीटर बनाया है. टाटा ने इस कार से सबसे पहले इस साल मार्च में हुए जेनेवा मोटर शो में पर्दा हटाया था. तब इस कार को बुज़्ज़र्ड नाम से पेश किया गया था. संभावना है कि टाटा मोटर्स भारत में इस कार को फरवरी में होने वाले 2020 के ऑटो एक्स्पो में शोकेस कर सकती है.

लुक्स के मामले में ग्राविटास का फ्रंट हूबहू हैरियर जैसा ही नज़र आता है. लेकिन कार की सिटिंग कैपेसेटी बढ़ाए जाने की वजह से कार की साइड और रियर प्रोफाइल बदल गई है जो इस कार को फ्रेश अपील देती है. रियर सीटें बढ़ने की वजह से ग्राविटास की रूफलाइन भी पहले से बढ़ गई है और कार के रियर एंड पर नया क्वार्टर ग्लास लगाया गया है. इसके अलावा ग्राविटास में अपग्रेडेड एलईडी टेल लैंप क्लस्टर, टेल गेट और रूफ स्पॉइलर लगाए गए हैं. साथ ही कार में दिए जाने वाले अलॉय व्हील्स हैरियर से अलग डिज़ाइन और आकार में बड़े हैं.

परफॉर्मेंस के लिहाज से देखें तो ग्राविटास के साथ टाटा हैरियर वाला ही 2.0 लीटर का क्रायोटेक डीज़ल दे सकती है जो 170 बीएचपी की पॉवर के साथ 350 एनएम का टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. बीएस-6 मानकों पर खरे उतरने वाले इस इंजन के साथ 6-स्पीड मैनुअल और वैकल्पिक तौर पर 6-स्पीड ऑटोमेटिक गियरबॉक्स दिया जा सकता है. कयास ये भी हैं कि ग्राविटास ऑल व्हील ड्राइव विकल्प के साथ भी पेश की जा सकती है. इस कार की कीमत 13 से 16.9 लाख रुपए के बीच रहने की संभावना है जिसके चलते इस कार का मुकाबला महिंद्रा एक्सयूवी 500 जैसी कारों से हो सकता है.