तमिलनाडु और पुडुचेरी के कई इलाकों में बीते कुछ दिनों के दौरान हुई बारिश ने सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. कोयंबटूर जिले के एक गांव में एक दीवार गिरने से 15 लोगों के मारे जाने की आशंका है. खबर लिखे जाने तक नौ शव बरामद कर लिए गए हैं. कई इलाके पानी में डूबे हुए हैं. चेन्नई, तूतिकोरिन, तिरुवल्लुर और कांचीपुरम में स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं.

उधर, मौसम विभाग का कहना है कि तमिलनाडु के कई तटीय इलाकों में भारी बारिश अभी जारी रहेगी. उसने इसकी वजह हिंद महासागर में बने चक्रवाती तूफान जैसे हालात को बताया है. पीटीआई के मुताबिक क्षेत्रीय चक्रवात चेतावनी केंद्र के निदेशक एन पुविरासन ने बताया कि रामनाथपुरम, तिरुनेलवेली, तूतीकोरिन, वेल्लोर, तिरुवल्लुर और तिरुवन्नमलाई जिलों में अगले 24 घंटों में भारी वर्षा हो सकती है. इसे देखते हुए मछुआरों को केप कोमोरिन और लक्षद्वीप क्षेत्र में समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है.