प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को ‘घुसपैठिया’ कहने पर भाजपा ने लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी से बयान वापस लेने और बिना शर्त माफी मांगने की मांग की है. पीटीआई के मुताबिक शून्यकाल के दौरान पार्टी नेता और संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी का यह भी कहना था कि कांग्रेस पार्टी के नेता ही घुसपैठिये हैं. समझा जाता है कि उन्होंने यह बात परोक्ष रूप से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संदर्भ में कही.

लोकसभा में कल नागरिकता संशोधन बिल पर बहस के दौरान अधीर रंजन चौधरी ने कहा था कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह घुसपैठिए हैं जो गुजरात से दिल्ली आए हैं. प्रहलाद जोशी ने कहा कि नरेंद्र मोदी केवल भाजपा के ही नेता नहीं हैं बल्कि देश के प्रधानमंत्री हैं. उनका यह भी कहना था कि अधीर रंजन चौधरी स्वयं पश्चिम बंगाल से आते हैं, जहां से सरकार घुसपैठियों को बाहर करने का काम कर रही है. संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी और उनके राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि चौधरी को अपना बयान वापस लेना चाहिए और बिना शर्त माफी मांगनी चाहिए. सदन में भाजपा सदस्यों ने भी अपने स्थान पर खड़े होकर कांग्रेस नेता से अपने बयान के लिये माफी मांगने की मांग की.

इस पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि उन्होंने किस हालात और किस लिहाज से यह बात कही, इसे समझने की जरूरत है. उनका कहना था, ‘नरेंद्र मोदी हमारे भी प्रधानमंत्री हैं.’ उन्होंने कहा कि वे स्वीकार करते हैं कि उनका भी परिवार बहुत पहले बांग्लादेश से ही आया था लेकिन अब तो यह उनका देश है और अभी कोई कैसे उन्हें घुसपैठिया कहेगा. इस दौरान भाजपा सदस्यों द्वारा चौधरी से माफी मांगने की मांग जारी रही. हंगामे के बीच बीच लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदन की कार्रवाई सवा दो बजे तक के लिये स्थगित कर दी.