अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कहा है कि उसे भारत के चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम का मलबा मिल गया है. यह चंद्रमा की परिक्रमा कर रहे उसके एक उपग्रह ने खोजा है. नासा ने विक्रम के मलबे की एक तस्वीर भी साझा की है.

नासा ने अपने ‘लूनर रिकॉनसन्स ऑर्बिटर’ (एलआरओ) से ली गई तस्वीर में अंतरिक्ष यान से प्रभावित स्थल को और उस स्थान को दिखाया है जहां मलबा है. लैंडर के हिस्से कई किलोमीटर तक लगभग दो दर्जन स्थानों पर बिखरे हुए हैं.

चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर की सात सितंबर को चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग कराने की भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की कोशिश नाकाम रही थी. विक्रम लैंडर का लैंडिंग से चंद मिनट पहले जमीनी केंद्रों से सम्पर्क टूट गया था. तब वह चांद की सतह से महज दो किलोमीटर दूर था. भारत का यह अभियान सफल हो जाता तो वह अमेरिका, रूस और चीन के बाद चांद पर पहुंचने वाला चौथा देश बन जाता.