बड़े मामलों की छानबीन करने वाली सीबीआई ने उत्तर प्रदेश में एक कमीशन एजेंट से 100 रुपये की घूस मांगने के आरोप में डाक विभाग के दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया है. पीटीआई के मुताबिक मामला प्रतापगढ़ जिले का है. अधिकारियों के मुताबिक एक कमीशन एजेंट के पति ने शिकायत की थी कि डाक अधीक्षक और डाक सहायक प्रत्येक बीस हजार रुपये जमा करने पर 100 रुपये की रिश्वत मांगते हैं.

शिकायतकर्ता का कहना था कि उसकी पत्नी गांवों से डाक विभाग के बचत खाते के लिए रकम इकट्ठा करती है और कुंडा प्रतापगढ़ के उप डाकघर में जमा रकम को सुपुर्द कर देती है. उसके मुताबिक वह भी इस कार्य में अपनी पत्नी की मदद करता है. शिकायतकर्ता के मुताबिक हाल में जब वह रकम जमा करने गया तो दोनों डाक अधिकारियों ने उससे रकम जमा करने के बदले सुविधा शुल्क के नाम पर 500 और 300 रुपये लिए. उसने आरोप लगाया कि दोनों ने प्रत्येक 20,000 रुपये जमा करने पर 100 रुपये देने को कहा और ऐसा न करने पर काम रोकने और गड़बड़ी करने की धमकी भी दी.

सीबीआई के मुताबिक शिकायत के आधार पर जाल बिछाया गया और आरोपितों को रंगे हाथ पकड़ लिया गया. जांच एजेंसी के एक अधिकारी ने कहा, ‘हमारे लिए कोई बड़ा या छोटा मामला नहीं होता. हम सभी मामलों से एक समान रूप से निपटते हैं.’ प्रवक्ता ने कहा कि सीबीआई को जनता की शिकायत पर हस्तक्षेप करना पड़ा जहां गरीब ग्रामीणों को डाकखाने में अपना ही पैसा जमा करने पर रिश्वत देनी पड़ रही थी.