छत्तीसगढ़ में आईटीबीपी के एक जवान ने अपने ही साथियों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी. इस घटना में छह जवान मारे गए हैं और तीन जख्मी हुए हैं. सभी जवान आइटीबीपी की 45 बटालियन के हैं. यह घटना छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले की है. फायरिंग करने वाले जवान को भी मार गिराया गया. बस्तर के आईजी सुंदरराज पी का कहना है कि जांच के बाद ही इस घटना पीछे की वजह पता लग पाएगी.

यह इस तरह की पहली घटना नहीं है. इसी साल मार्च में जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में भी ऐसी ही घटना हुई थी. यहां सीआरपीएफ की 187वीं बटालियन के कैंप में जवानों के बीच किसी बात को लेकर हुई बहस ने खूनी रूप ले लिया. इसके बाद एक जवान ने अपनी सर्विस राइफल से फायरिंग कर दी. तीन जवान मारे गए. इन पर गोलियां चलाने वाले जवान ने बाद में खुद को भी गोली मार ली. इससे पहले जनवरी में जम्मू-कश्मीर के ही श्रीनगर में सीआरपीएफ के एक जवान ने अपने दो साथियों को गोली मारने के बाद खुद को भी गोली मार ली थी.

छत्तीसगढ़ में दो साल पहले भी ऐसा हादसा हुआ था. यहां बीजापुर जिले में सीआरपीएफ की 168वीं बटालियन के एक जवान ने अपने साथियों पर गोलियां चला दी थीं. इस घटना में चार जवानों की मौत हो गई थी.