वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम तिहाड़ जेल से रिहा कर दिए गये हैं. 106 दिनों के बाद तिहाड़ जेल से बाहर आए चिदंबरम ने मीडिया से कहा, ‘इतने दिनों तक कैद में रखने के बावजूद मेरे खिलाफ एक भी आरोप तय नहीं किया गया.’ हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि वह इस मामले पर अभी और कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं.

पूर्व वित्त मंत्री के जेल से बाहर आने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया. इस अवसर पर उनके बेटे कार्ति चिदंबरम भी मौजूद थे.

इससे पहले बुधवार सुबह दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले को पलटते हुए सुप्रीम कोर्ट ने आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्डरिंग मामले में पी चिदंबरम को जमानत दे दी थी. पीटीआई के मुताबिक कोर्ट ने उन्हें दो लाख रुपये का निजी मुचलका भरने और इतनी ही राशि के दो जमानती लाने की शर्त पर यह जमानत दी.

चिदंबरम को पहली बार आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में सीबीआई ने 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था. इस मामले में उन्हें शीर्ष अदालत ने 22 अक्टूबर को जमानत दे दी थी. इसी दौरान 16 अक्टूबर को उन्हें प्रवर्तन निदेशालय ने आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले से मिली रकम से संबंधित मनी लॉन्डरिंग के मामले में गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद वे जमानत के लिए दिल्ली हाई कोर्ट पहुंचे थे जिसने 15 नवंबर को उनकी अपील ठुकरा दी थी.